Sunday, October 20सही समय पर सच्ची खबर...

पुष्पेंद्र एनकाउंटर मामलाः अखिलेश यादव ने झांसी पहुंचकर मृतक के परिजनों से मुलाकात की

akhlesh yadav in jhanshi at puspendra house-1

समरनीति न्यूज, लखनऊ/बांदा/झांसीः पुलिस एनकाउंटर में झांसी में मारे गए पुष्पेंद्र यादव को लेकर प्रदेश की राजनीति में उबाल आ गया है। बुधवार को सपा प्रमुख एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पुष्पेंद्र के घर झांसी पहुंचे। वहां परिवार वालों से मुलाकात की। साथ ही प्रदेश की योगी सरकार पर जमकर हमला बोला। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने झांसी जिले में पुष्पेंद्र के गांव कारगुआ खुर्द में उसके परिजनों को सांत्वना दी। साथ ही कहा कि समाजवादी पार्टी प्रदेश सभी फर्जी एनकाउंटर के खिलाफ आंदोलन की तैयारी में है। कहा कि इस मुठभेड़ कांड की हाई कोर्ट के न्यायाधीश से जांच करानी चाहिए। अखिलेश ने परिवार को हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया।

योगी सरकार पर बोला हमला

कहा कि भाजपा सरकार में सत्ता का घमंड सिर चढ़कर बोल रहा है। कहा कि आम लोगों की आवाज को, जनता की आवाज को पैरों तले रौंदा जा रहा है। कहा कि विजयादशमी पर्व की सुबह से पहले ही रात के अंधेरे में झांसी में पुष्पेंद्र यादव की चिता जलाई गई है जबकि परिवार के लोग और जनता मांग कर रही थी कि पहले एनकाउंटर वाले दरोगा के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज हो, फिर शव को लेंगे। बताया जा रहा है कि सपा प्रमुख आज बुधवार को झांसी में ही सर्किट हाउस में रात्रि विश्राम करेंगे। गुरुवार सुबह वापस लखनऊ के लिए रवाना होंगे। उनके साथ सपा के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी भी मौजूद रहे।

एडीजी ने दी मामले में सफाई

उधर, झांसी में पुष्पेंद्र पुलिस मुठभेड़ मामले में एडीजी कानून व्यवस्था पीवी रामशास्त्री ने प्रेसवार्ता में कहा है कि पूरे मामले की निष्पक्ष विवेचना हो रही है। डीजीपी मुख्यालय से मॉनिटरिंग हो रही है। कहा कि पीड़ित पक्ष के आरोपों पर भी गंभीरता से जांच हो रही है। साथ ही एडीजी ने कहा कि पुष्पेंद्र पर 5 मुकदमें दर्ज थे।

क्या है एनकाउंटर का मामला

बताया जाता है कि झांसी के थाना मोंठ के बमरौली तिराहा पर 5 अक्टूबर की रात कोतवाली प्रभारी धर्मेंद्र चौहान पर बाइक सवार युवकों ने हमला बोल दिया था। इन युवकों में विपिन, पुष्पेंद्र व रविंद्र शामिल बताए गए थे। बताया कि आरोपी कार और मोबाइल लूट ले गए। कोतवाली प्रभारी पर हमला कर कार और मोबाइल लूट की घटना के बाद कई थानों की पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई।

ये भी पढ़ेंः बीजेपी नेता की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या, गुस्साई भीड़ ने लगाया जाम

पुलिस के अनुसार देर रात आरोपी गुरसरांय क्षेत्र के गांव फरीदा के पास मिले तो पुलिस से उनकी मुठभेड़ हो गई। इसमें आरोपी पुष्पेंद्र पुलिस की गोली से घायल हो गया। उसे गुरसरांय के अस्पताल ले जाया गया, वहां उसकी मौत हो गई। आरोपी विपिन और रविंद्र मौके से भाग गए थे। पुलिस ने तीनो के खिलाफ मुकदमा लिखा था। परिवार के लोग एनकाउंटर को फर्जी बता रहे हैं। मामले में डीएम शिवसहाय अवस्थी ने मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दिए थे।

ये भी पढ़ेंः बड़ी खबरः बांदा शहर में दिनदहाड़े रिटायर्ड दरोगा की हत्या कर 50 हजार की लूट, अतिसुरक्षित क्षेत्र में वारदात

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *