Sunday, March 29सही समय पर सच्ची खबर...

Author: Admin

एनजीटी के आदेश पर गंगा सफाई पर सख्त हुए आयुक्त, बदलाव के दिए निर्देश

एनजीटी के आदेश पर गंगा सफाई पर सख्त हुए आयुक्त, बदलाव के दिए निर्देश

समरनीति न्‍यूज़, कानपुरः गंगा में लगातार गिर रहे नालों के अपशिष्‍ट को लेकर एनजीटी अब सख्‍त नजर आ रहा है। इसी क्रम में एनजीटी की ओर से कई सख्‍त निर्देश जारी किए गए हैं। इतना ही नहीं, इन निर्देशों का सख्‍ती के साथ पालन करने का भी आदेश दिया है। क्‍या हैं वो निर्देश, आइए देखें। व्‍यक्‍त की गहरी चिंता  गंगा में बढ़ रही ठोस कूड़े की मात्रा पर एनजीटी ने गहरी चिंता व्यक्त की है। इस चिंता के साथ एनजीटी ने कड़े निर्देश भी जारी किए हैं। इस आदेश के मुताबिक हरिद्वार से उन्नाव तक 86 बड़े नाले गंगा में गिर रहे हैं, जिनसे रोजाना टनों ठोस कूड़ा गंगा में गिर रहा है। इससे गंगा और इसकी तली में कूड़े की मात्रा बढ़ती जा रही है। आदेश के क्रम में नगर आयुक्त संतोष कुमार शर्मा ने चीफ इंजीनियर मनीष कुमार सिंह को निर्देश दिए हैं कि कानपुर में गिर रहे सभी न
Good Looking न होने का दंश कुछ यूं झेलना पड़ता था मनोज बाजपेयी को, सुनाई आपबीती

Good Looking न होने का दंश कुछ यूं झेलना पड़ता था मनोज बाजपेयी को, सुनाई आपबीती

एंटरटेनमेंट
मनोरंजन डेस्‍कः Bollywood Actor मनोज बाजपेयी को भला कौन नहीं जानता। वैसे, इस बात पर तो आपने भी गौर किया होगा कि अक्‍सर मनोज screen पर negative roles में ही नजर आते रहे हैं। कुछ गिने-चुने ही होंगे उनके इंडस्‍ट्री में पॉजिटिव रोल्‍स। वैसे इस बात का इल्‍म खुद उनको भी है। तभी तो पिछले दिनों अपने इसी दर्द को लेकर उन्‍होंने सुनाई आपबीती। आइए, पढ़ें हम भी। Opened the secret  पिछले दिनों एक इंटरव्‍यू के दौरान मनोज ने बताया कि गुडलुकिंग न होने के चलते उनको खुबसूरत हीरो के अपोज़िट विलेन का रोल मिलता था। फिल्म इंडस्ट्री के साथ-साथ उस समय की मीडिया भी उन्हें गुडलुकिंग नहीं मानती थी। यही वजह थी कि तीन से चार सालों में उन्हें साइन की हुई लगभग 7 फिल्मों से भी निकाल दिया गया था। Further told it  आगे मनोज बताते हैं कि, ‘फिल्म ‘सत्या’ के बाद जिस तरह के
4 और 5 अगस्त को केडीएकॉन 2018 में होगी डायबिटीज के हर पहलू पर चर्चा

4 और 5 अगस्त को केडीएकॉन 2018 में होगी डायबिटीज के हर पहलू पर चर्चा

समरनीति न्‍यूज़, कानपुर। डायबिटीज का प्रभाव आपकी सेहत के हर पहलू पर पड़ता है। आपके गुर्दे, हार्ट और आपकी प्रतिरोधक क्षमता सभी इससे प्रभावित होती है, लेकिन इसके प्रभावों को काबू कर एक सेहतमंद जिंदगी जी जा सकती है। डायबिटीज के हर पहलू, उसके नए इलाज व गाइडलाइन पर केडीएकॉन-2018 में चर्चा होगी। दी गई है ऐसी जानकारी   इस बारे में जानकारी दी गई है कि इसमें देश के नामी इंड्रोक्राइनोलॉजिस्ट्स शामिल होंगे। शहर के मर्चेंट चेंबर हॉल में शनिवार व रविवार को दो दिन चलने वाली इस कांफ्रेंस में कानपुर व आसपास के जिलों के 500 से ज्यादा डॉक्टर्स शामिल होंगे। ये डॉक्‍टर्स यहां आपकी स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी समस्‍याओं का भी निदान करेंगे। पहली बार होगा ये सेशन   पहली बार इस कांफ्रेंस में पैरामेडिकल स्टॉफ की ट्रेनिंग के लिए भी सेशन होगा। कानपुर डायबिटीज एसोसिएशन की अध्य
कानपुरः बरसात में खंभा गिरने से छह साल के मासूम की मौत

कानपुरः बरसात में खंभा गिरने से छह साल के मासूम की मौत

समरनीति न्‍यूज़, कानपुरः गुरुवार को तेज़ बारिश के चलते बिल्हौर में एक सीमेंटेड खम्भे के मलबे में दबने से मासूम की मौत हो गई। मासूम की उम्र 6 साल बताई गई है। वह बेड़ी अलीपुर निवासी रामबाबू का बेटा था। वह तीन भाई बहन में सबसे छोटा था। ऐसी मिली है जानकारी प्राप्‍त जानकारी के अनुसार मासूम रामू घर के बाहर खेल रहा था। वह खम्भे के पास खड़ा था। उसी वक्‍त खम्भा ढहने से रामू मलबे के नीचे दब गया। परिजनों उसको मलबे से निकालकर हॉस्पिटल ले गए। वहां उसको मृत घोषित कर दिया गया। सदमें में मृतक मासूम की मां मासूम की मौत से मां ललिता गहरे सदमे में चली गई. इसको लेकर प्रधान ने बताया है कि लगातार बारिश की वजह से खम्भा ढहा है. एसडीएम ने वहां जाकर पीड़ित परिवार को मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया। वहीं इसके बाद भी हो रही बारिश से क्षेत्रीय लोगों में दहशत का माहौल है। उधर, प्रशासन भी
तो क्या वाकई इतिहास के पन्नों में दर्ज हो जाएगी कानपुर की शान, लालइमली और धारीवाल!

तो क्या वाकई इतिहास के पन्नों में दर्ज हो जाएगी कानपुर की शान, लालइमली और धारीवाल!

समरनीति न्‍यूज़, कानपुरः लाल इमली, धारीवाल...एक समय में ये शहर की शान हुआ करते थे। वहीं अब पिछले कई सालों से इनपर बंदी की तलवार लटकी हुई है। जी हां, सही सुन रहे हैं आप। शहर की इन दोनों बड़ी मिलों को पूरी तरह से बंद करने की कवायद जोरों पर चल रही है। उधर, खबर कुछ ऐसी मिली है कि अब इन दोनों को ज़ीरो डेट में डाल दिया गया है। गौर करिएगा यहां  यहां सबसे पहले आपको बता दें कि जीरो डेट का मतलब होता है कि अब इन दोनों मिलों को कभी भी बंद किया जा सकता है। केंद्र सरकार के पब्‍लिक इंटरप्राइजेज मंत्रालय की गाइड लाइंस को कपड़ा मंत्रालय ने जारी कर दिया है। जीरो डेट में लालइमली और धारीवाल के कर्मचारियों और श्रमिकों को वही वीआरएस दिया जाएगा, जोकि मंत्रालय की ओर से तय किया जाएगा। इसके साथ ही श्रमिकों के किसी तरह के भी दावों खारिज कर दिया जाएगा। प्रबंधन को देना होगा प्रस्‍ताव 
क्रिमिनल के लिए बुरी खबरः सड़कों पर उतरी डायल 100, अब गलियों में भी नहीं छोड़ेगी पीछा

क्रिमिनल के लिए बुरी खबरः सड़कों पर उतरी डायल 100, अब गलियों में भी नहीं छोड़ेगी पीछा

समरनीति न्यूज, कानपुरः अब शातिर अपराधी शहर के घनी आबादी वाली गलियों में भी पुलिस की नजर से नहीं बच सकेंगे। अपराधियों को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए और पुराने घने इलाकों में रिस्‍पॉन्‍स टाइम को बेहतर करने के लिए गुरुवार को शहर की गलियों में गश्त करने के लिए डॉयल 100 की बाइक को रोड पर उतार दिया गया। ऐसा बताया आईजी आलोक सिंह ने  आईजी आलोक सिंह ने हरी झंडी दिखाकर बाइक सवारों को रवाना किया। उन्होंने कहा कि अभी 54 बाइक मिली हैं। ऐसे में जहां डॉयल 100 की कार नहीं जा सकती है, वहां पर इन बाइक से पुलिस गश्त करेगी और सूचना मिलने पर सही समय पर पहुंचेगी। अब ऐसा करना न होगा आसान  इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि अभी तक अपराधी गलियों के रास्ते से भाग जाते थे, लेकिन अब उनके लिए ऐसा करना भी आसान नहीं होगा। कारण है कि पुलिस भी अपनी बाइक से गलियों में गश्त करेगी। ऐसा करने से अपराधियों को
अखिलेश यादव की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, बंगले में हुआ था 10 लाख का नुकसान, रिकवरी की फांस

अखिलेश यादव की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, बंगले में हुआ था 10 लाख का नुकसान, रिकवरी की फांस

समरनीति न्यूज, लखनऊः पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। सरकारी बंगला छोड़ने से पहले उसमें की गई तोड़फोड़ को लेकर एक बार फिर उनको दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। सूत्र बताते हैं कि दरअसल, सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर चार विक्रमादित्य मार्ग स्थित सरकारी बंगले को अखिलेश यादव द्वारा खाली करते समय हुई तोड़फोड़ में लगभग 10 रुपए का नुकसान होने का आंकलन किया गया है। बुधवार को राज्य संपत्ति अधिकारी को सौंपी गई 266 पेज वाली जांच रिपोर्ट में अधिकतर नुकसान टाइल्स टूटने व टोटी और पाइप के गायब होने का ही दिखाया गया है। ये भी पढ़ेंः ईवीएम पर सवालः अखिलेश यादव ने उठाई बैलेट पेपर से चुनाव की मांग बताते चलें कि इस मामले में कुछ समय पहले प्रदेश की राजनीति को काफी गरमा दिया था। हांलाकि अखिलेश यादव इस मामले में खुद को बेकसूर बताते रहे हैं लेकिन भाजपा उनको घेरने का कोई मौका हाथ से नहीं जा
कानपुरः बारिश से सुंदरनगर में ना बिजली और ना खाना, पलायन को मजबूर लोग

कानपुरः बारिश से सुंदरनगर में ना बिजली और ना खाना, पलायन को मजबूर लोग

समरनीति न्यूज, कानपुरः कानपुर में लगातार बारिश से हालत बदतर होते जा रहे हैं। बारिश से बिजली खराबी और दूसरी समस्याओं ने लोगों का परेशान कर दिया है। जनजीवन बुरी तरह से ठप हो गया है। शहर के पनकी में सुंदर नगर के लोग पिछले 48 घंटों से बिना बिजली और पेयजल के परेशान हो गए हैं। बताया जा रहा है कि यहां के लोग अब दूसरी जगहों के लिए पलायन करने लगे हैं। लोगों के पास न तो खाने की व्यवस्था है और न ही बिजली होने के कारण पेयजल की। ऐसे में लोग बुरी तरह से परेशान हो गए हैं। ये भी पढ़ेंः कानपुरः हरवंश मोहाल व काहूकोठी में मकान ढहने से पति की मौत व पत्नी घायल, कई फंसे   
फतेहपुर में लगातार बारिश से इंद्राआवास ढहा, दंपति व दो मासूम घायल

फतेहपुर में लगातार बारिश से इंद्राआवास ढहा, दंपति व दो मासूम घायल

समरनीति न्यूज, फतेहपुरः लगातार हो रही बारिश से 16 महीने पूर्व बना इंद्रा आवास ढह गया। इस दौरान मलबे में दंपति व उनके दो मासूम बच्चे दबकर घायल हो गए। घायलों को इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। घटना जिले के मलवां थाना क्षेत्र के धमईखेड़ा गांव की है।अधिकारी मौके पर पहुंचकर हाल-चाल ले रहे हैं। घायलों की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। वहीं जिले के अधिकारियों का कहना है कि मामले की जांच कराई जाएगी।
उन्नाव में छात्रा की हादसे में मौत के बाद बवाल, जाम-हंगामा

उन्नाव में छात्रा की हादसे में मौत के बाद बवाल, जाम-हंगामा

समरनीति न्यूज, उन्नाव: थाना हसनगंज के मोहन लखपेड़ा चौराहे पर हुए हादसे में आज एक छात्रा की मौके पर ही मौत हो गई। हादसा एक तेज रफ्तार अनियंत्रित ट्रक से हुआ। ट्रक ने छात्रा को रौंद दिया। कक्षा 9 की छात्रा इस छात्रा की मौत के बाद मौके पर इकट्ठा भीड़ ने ट्रक में आग लगा दी। इतना ही नहीं आक्रोशित भीड़ ने मौके पर जाम लगा दिया। मौके पर पहुंचे भारी पुलिस बल ने किसी तरह हालात को काबू में किया। मौके पर पहुंची फायरब्रिगेड ने आग पर काबू पाया। मौके पर अभी तक गहमा-गहमी बनी हुई है। पुलिस मौके पर हालात को संभालने की कोशिश कर रही है।