Friday, December 6सही समय पर सच्ची खबर...

दुनिया

तेलंगाना के चारों दरिंदे पुलिस एनकाउंटर में ढेर, महिला डाक्टर की गैंगरेप के बाद जलाकर की थी हत्या

तेलंगाना के चारों दरिंदे पुलिस एनकाउंटर में ढेर, महिला डाक्टर की गैंगरेप के बाद जलाकर की थी हत्या

समरनीति न्यूज, डेस्कः हैदराबाद के तेलंगाना में एक 27 साल की महिला डाक्टर से गैंगरेप के बाद उसे जलाकर मारने वाले चारों आरोपी आज तड़के सुबह पुलिस एनकाउंटर में मारे गए। बताते हैं कि पुलिस चारों को क्राइम सीन क्रिएट करने के लिए मौके पर लेकर गई थी। वहां चारों ने पुलिस पर हमला किया। जवाब में पुलिस ने कार्रवाई की और चारों मारे गए। 27 नवंबर की थी चारों ने दरिंदगी बताते चलें कि 27 नंवबर को चारों दरिंदों ने एक 27 साल की महिला डाक्टर को अगवा करने के बाद उसके साथ गैंगरपे किया था। इसके बाद उन्हे जलाकर मार डाला था। महिला डाक्टर का शव अधजली हालात में पड़ा मिला था। चारों ने पहले उनकी स्कूटी पंचर की थी, बाद में उसे ठीक कराने के बहाने डाक्टर को अगवा कर लिया था। मामले को लेकर पूरे देश में उबाल था। हर कोई गुस्से से भरा हुआ था और इन दरिदों के लिए मौत की सजा की मांग कर रहा था। यह घटना बुधवार रात टोलप्लाजा
हैदराबाद में महिला डाक्टर से गैंगरेप-मर्डरः एक आरोपी की मां बोली-बेटे को चाहे जिंदा जलाओ, चाहे फांसी दो

हैदराबाद में महिला डाक्टर से गैंगरेप-मर्डरः एक आरोपी की मां बोली-बेटे को चाहे जिंदा जलाओ, चाहे फांसी दो

समरनीति न्यूज, डेस्कः हैदाराबाद में एक महिला डाक्टर से गैंगरेप के बाद जलाकर हत्या करने के जघन्य मामले में एक आरोपी की मां का बयान सामने आया है। इस आरोपी की मां ने कहा है कि 'मेरे बेटे को उसी तरह जिंदा जला दिया जाए, जिस तरह उसने महिला डाक्टर को जलाया है, या उसे फांसी दे दी जाए।' दरअसल, मानवता को शर्मसार करने वाले इस जघन्य सामूहिक दुष्कर्म और हत्याकांड के मामले ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है। हर कोई इस हैवानियत के सामने आने के बाद से स्तब्ध है। पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। वहीं चार पुलिस कर्मियों को निलंबित भी किया जा चुका है। हैदराबाद समेत देशभर में घटना के विरोध में और महिलाओं की सुरक्षा को लेकर प्रदर्शन हो रहे हैं। बोलीं, मेरी भी बेटी-समझ सकती हूं दर्द इसी सबके बीच तेलंगाना के नारायणपेट जिले के गुडीगांडला गांव के रहने वाले एक आरोपी एक आरोपी सी. चेन्नाकेशवुलु के घर मीडिया
दो दिन के कार्यक्रम में कानपुर पहुंचे राष्ट्रपति, पूर्व छात्रों से की यह अपील..

दो दिन के कार्यक्रम में कानपुर पहुंचे राष्ट्रपति, पूर्व छात्रों से की यह अपील..

समरनीति न्यूज, कानपुरः आज यहां शनिवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अपने दो दिन के कार्यक्रम में कानपुर पहुंचे हैं। पीएसआइटी (PSIT) में अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेंस के बाद राष्ट्रपति कोविंद विश्वविद्यालय भी गए। वहां पुरातन छात्र सम्मेलन में शामिल हुए। उन्होंने विश्वविद्यालय को एक लाख 11 हजार रुपए की धनराशि देते हुए पूर्व छात्रों से विश्वविद्यालय को तकनीकी व आर्थिक रूप से मजबूत बनाने की अपील भी की। इस मौके पर बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे। कहा, तकनीक के क्षेत्र में लगातार आगे बढ़ रहा कानपुर राष्ट्रपति श्री कोविंद ने कानपुर पीएसआइटी में आयोजित अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेंस में कहा कि तकनीकी के क्षेत्र में कानपुर लगातार आगे बढ़ रहा है। यहां आईआईटी, हरकोर्ट बटलर प्राविधिक विश्वविद्यालय तथा पीएसआईटी समेत कई तकनीकी संस्थान मौजूद हैं, जो कई क्षेत्रों में काम कर रहे हैं। कहा कि यहां की आईआईटी देश के सबसे पुर
महाराष्ट्र में बड़ा राजनीतिक उलट-फेर, फडणवीस फिर बने मुख्यमंत्री

महाराष्ट्र में बड़ा राजनीतिक उलट-फेर, फडणवीस फिर बने मुख्यमंत्री

समरनीति न्यूज, डेस्कः आज शनिवार सुबह महाराष्ट्र में राजनीति का अबतक बड़ा उलट-फेर देखने को मिला है। आज सुबह-सुबह बीजेपी ने एनसीपी के साथ मिलकर सरकार बना ली है। इस दौरान राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री पद की शपथ भी दिला दी है। वहीं इस दौरान एनसीपी के अजित पवार ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है। इस मौके पर सीएम फडणवीस ने कहा है कि महाराष्ट्र की जनता ने हमें साफतौर पर जनादेश दिया था, लेकिन शिवसेना ने उस जनादेश को नकारते हुए दूसरी जगह पर समझौते का प्रयास किया। अजित पवार ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली कहा कि महाराष्ट्र को स्थायी सरकार देने के फैसले के लिए अजित पवार को धन्यवाद देते हैं। उधर, अजित पवार ने कहा है कि महाराष्ट्र में चुनावों के नतीजे आने से लेकर अबतक कोई भी राजनीतिक दल सरकार सरकार बनाने में सक्षम नहीं था। वहीं महाराष्ट्र में किसान मुद्दों सहित कई समस्याओ
गायिका लता मंगेशकर लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर..

गायिका लता मंगेशकर लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर..

समरनीति न्यूज, मनोरंजन डेस्कः बीते सोमवार से अस्पताल में भर्ती प्रसिद्ध गायिका लता मंगेशकर की हालत अब भी नाजुक है। वह लाइफ सपोर्ट सिस्टम (जीवन रक्ष प्रणाली) पर हैं। अस्पताल के सूत्रों ने एक अंग्रेजी अखबार को बताया है कि उनकी सेहत में धीरे-धीरे अब सुधार आ रहा है। हालांकि, यह भी बताया कि उनकी हालात अभी खतरे से बाहर नहीं है। लता मंगेशकर का इलाज करने वाले डाक्टर प्रतित समदानी का कहना है कि लता जी फिलहाल निमोनिया और दिल से जुड़ी समस्याओं के साथ ही सीने में संक्रमण से पीड़ित हैं। दो दिन से ब्रीच केंडी अस्पताल में हैं भर्ती डाक्टर ने कहा है कि जबतक उनका संक्रमण नियंत्रण में नहीं आता, कुछ नहीं कहा जा सकता है। डाक्टर ने यह भी कहा कि अभी उनकी सेहत को लेकर कुछ कहना मुश्किल है। बताते चलें कि 90 वर्षीय गायिका लता जी को सांस लेने में दिक्कत हुई थी। इसके बाद उनको सोमवार को मुंबई के ब्रीच केंडी अस्पताल
‘मैं नाश्ते में राजनेताओं को खाता हूं’, जुमले वाले टीएन शेषन नहीं रहे

‘मैं नाश्ते में राजनेताओं को खाता हूं’, जुमले वाले टीएन शेषन नहीं रहे

समरनीति न्यूज, डेस्कः देश के सबसे बड़े चुनाव सुधारक माने जाने वाले पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टीएन शेषन का 86 साल की उम्र में रविवार को निधन हो गया। उन्होंने चेन्नई में अंतिम सांसें लीं। भारत के 10वें मुख्य चुनाव आयुक्त रहे शेषन 12 दिसंबर 1990 से 11 दिसंबर, 1996 तक इस पद पर रहे। उनका पूरा नाम तिरुनेल्लाई नारायण अय्यर शेषन (टीएन शेषन) था। बताते चलें कि चुनाव आयोग की शक्तियों का एहसास टीएन शेषन ने ही देश को कराया था। वे अपने कार्यकाल के दौरान पूरी तरह बेदाग रहे। 15 दिसंबर 1932 को केरल के पलक्कड़ जिले में जन्मे शेषन ने भारतीय चुनाव प्रणाली में कई बदलाव किए। देश में मतदाता पहचान पत्र की शुरूआत शेष द्वारा ही की गई थी। 1996 में शेषन को मैग्सेसे अवार्ड से सम्मानित किया गया। पहली बार बिहार में कराए थे चार चरणों में चुनाव बताते चलें कि टीएन शेषन पहले चुनाव आयुक्त रहे, जिन्होंने बिहार में पहली ब
सुप्रीम कोर्टः अयोध्या में विवादित जमीन पर बनेगा राम मंदिर, मस्जिद को दूसरी जगह जमीन

सुप्रीम कोर्टः अयोध्या में विवादित जमीन पर बनेगा राम मंदिर, मस्जिद को दूसरी जगह जमीन

समरनीति न्यूज, डेस्कः अयोध्या मामले में बहुप्रतीक्षित फैसला सुनाते हुए सुप्रीम कोर्ट ने साफ कर दिया है कि 2.7 एकड़ की विवादित जमीन हिंदुओं को दी जाएगी। वहां राम मंदिर ही बनेगा। आदेश दिए हैं कि तीन माह के भीतर मंदिर निर्माण के लिए सरकार एक ट्रस्ट बनाए। सर्वोच्च अदालत ने केंद्र व राज्य सरकार को यह भी आदेश दिया है कि मुस्लिम पक्ष को भी अयोध्या में ही दूसरी जगह 5 एकड़ जमीन मस्जिद के लिए दी जाए। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा है कि केंद्र या राज्य सरकार तीन माह के भीतर एक ट्रस्ट बनाए। उधर, अयोध्या फैसला आने के बाद सभी अपनी-अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। कुछ लोग फैसले से असंतोष जरूर जता रहे हैं लेकिन सर्वसम्मति से आए इस फैसले को स्वीकार भी कर रहे हैं। पांच जजों की पीठ का सर्वसम्मति से ऐतिहासिक फैसला साथ ही सुन्नी वक्फ बोर्ड को 5 एकड़ वैकल्पिक जमीन देने का
गांधी परिवार से हटी SPG सुरक्षा, केंद्र सरकार का फैसला

गांधी परिवार से हटी SPG सुरक्षा, केंद्र सरकार का फैसला

समरनीति न्यूज, नई दिल्लीः केंद्र की मोदी सरकार ने गांधी परिवार से SPG सुरक्षा वापस ले ली है। मीडिया रिपोर्ट्स में यह खबर आज सुर्खियों में छाई है। बताते हैं कि सरकार के उच्‍च पदस्‍थ सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार को बताया गया है कि केंद्रीय गृह मंत्रालय की बैठक में यह फैसला हुआ है। सूत्रों की मानें तो अब गांधी परिवार में सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा को सिर्फ CRPF कमांडो की जेड प्‍लस सुरक्षा ही मिल सकेगी। बता दें कि अबतक SPG सुरक्षा देश में सिर्फ चार लोगों के पास थी। इसे लेकर कांग्रेस ने कहा है कि यह आरएसएस का छिपा एजेंडा है, जबकि राहुल गांधी ने ट्वीट करके कहा है कि परिवार की सुरक्षा के लिए धन्यवाद। पहले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से हटी थी SPG इनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी शामिल थे। अ
अयोध्याः फैसले से पहले CJI गोगोई ने यूपी के मुख्य सचिव-डीजीपी के साथ की अहम बैठक

अयोध्याः फैसले से पहले CJI गोगोई ने यूपी के मुख्य सचिव-डीजीपी के साथ की अहम बैठक

समरनीति न्यूज, लखनऊः श्री राम जन्मभूमि मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला कुछ ही दिनों में आने वाला है। इसको लेकर सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने यूपी मुख्य सचिव राजेंद्र तिवारी व डीजीपी ओपी सिंह को आज तलब किया था। दोनों अधिकारी आज सुबह ही दिल्ली पहुंच थे। वहां सुप्रीम कोर्ट में मुख्य न्यायाधीश श्री गोगोई ने अपने चैंबर में दोनों उच्चाधिकारियों के साथ बैठक की। बताया जा रहा है कि यह बैठक सुरक्षा व्यवस्था को लेकर की गई है। किसी भी वक्त आ सकता है फैसला बताते चलें कि श्री राम जन्मभूमि को लेकर किसी भी वक्त फैसला आ सकता है। ऐसे में पूरे देश में अलर्ट है। खासतौर पर यूपी में सुरक्षा इंतजामों का खास ख्याल रखा जा रहा है। यूपी में सभी जिलों और मंडलों में पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी लगातार बैठकें करते हुए आपसी सौहार्द्र बनाए रखने की अपील कर रहे हैं। साथ ही सोशलमीडिया की भी मानिटरिंग की जा
रामपुर में CRPF कैंप पर हमला करने वाले एक पाकिस्तानी समेत 4 को फांसी, 1 को उम्रैकद

रामपुर में CRPF कैंप पर हमला करने वाले एक पाकिस्तानी समेत 4 को फांसी, 1 को उम्रैकद

समरनीति न्यूज, लखनऊ/रामपुरः लगभग 12 साल पहले रामपुर में CRPF के ग्रुप सेंटर पर आतंकी हमले के छह दोषियों को शनिवार को अदालत ने सजा सुनाई। आतंकी हमले में शामिल छह में चार आतंकियों को फांसी की सजा हुई। इनमें एक पाकिस्तानी भी शामिल है। इनके नाम इमरान शहजाद, फारूख, सबाउददीन और शरीफ हैं। वहीं पांचवे आरोपी जंग बहादुर को उम्रकैद की सजा हुई है। एक अन्य फहीम नाम के दोषी को 10 साल की सजा हुई है। रामपुर के अपर जिला जज संजय कुमार की अदालत ने सजा सुनाई है। सभी दोषियों को कड़ी सुरक्षा के बीच कोर्ट में पेश किया गया था। अदालत ने कुल आठ आरोपियों में छह को दोषी पाया। दोषियों में दो पाकिस्तानी भी हैं। बता दें कि शुक्रवार को अदालत ने सजा पर फैसला नहीं सुनाया था। दो अभियुक्तों पर आरोप सिद्ध न होने पर दोषमुक्त कर दिया है।  हमले का यह था पूरा मामला CRPF ग्रुप सेंटर पर 31 दिसंबर 2007 की रात 2:30