Saturday, May 30सही समय पर सच्ची खबर...

झाँसी

बुंदेलखंड में लाॅकडाउन के हीरो बनकर उभरे सत्ता के ये कद्दावर..

बुंदेलखंड में लाॅकडाउन के हीरो बनकर उभरे सत्ता के ये कद्दावर..

नम्रता लोधी, बांदाः वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (Covid-19) के संकट से लोगों को बचाने के लिए पूरा देश लाॅकडाउन हो गया। यूपी का बुंदेलखंड भी इससे अछूता नहीं रहा। लोगों ने लाॅकडाउन की तपिश को सुदूर ग्रामीणों इलाकों तक महसूस किया। इसकी वजह है कि बुंदेलखंड में आज भी बड़ी आबादी रोज खाने और रोज कमाने पर निर्भर है। ऐसे में स्वभाविक है कि लोगों को लाॅकडाउन के दौरान दिक्कतों का सामना करना पड़ा। लाॅकडाउन में हर जाति-वर्ग को सहारा हालांकि, सरकार ने अपने स्तर से प्रयास किए, सरकारी मशीनरी जुटी रही, लेकिन फिर भी कुछ सामर्थ्यवान लोगों का आगे आना जरूरी था। कुछ ऐसे लोग सामने आए भी जिन्होंने दलगत राजनीति से ऊपर उठते हुए लाॅकडाउन के बीच हर जाति-वर्ग के गरीब-जरूरतमंदों तक खाना, राशन और दूसरा जरूरत का सामान पहुंचाया। एक फोन काल पर मदद पहुंचाई। गांव-गांव और डगर-डगर पहुंचकर गरीबों की मदद की। संकट की इस घड़ी
दर्दनाकः बेटी की मौत से दुखी पिता ने पूरा परिवार मिटाया, पत्नी-बेटे समेत मौत 

दर्दनाकः बेटी की मौत से दुखी पिता ने पूरा परिवार मिटाया, पत्नी-बेटे समेत मौत 

समरनीति न्यूज, झांसीः झांसी में शुक्रवार को एक दिल दहला देने वाली घटना ने सभी को हिलाकर रख दिया। अपनी इंटरमीडिएट में पढ़ने वाली बेटी की अचानक मौत से दुखी एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी और 12 साल के मासूम बेटे को भी जहर दे दिया। बाद में खुद भी खा लिया। इससे तीनों की मौत हो गई। घटना की जानकारी आसपास के लोगों को तब हुई जब बच्चा हालत बिगड़ने पर बाहर आकर इधर-उधर भागने लगा। पड़ोसियों ने पुलिस को सूचना देने के साथ ही बच्चे को मेडिकल कालेज पहुंचाया। वहां चिकित्सकों ने मासूम को मृत घोषित कर दिया। घटना झांसी जिले के थाना चिरगांव के पहलापुरा की है। तीन माह पहले हुई थी बेटी की मौत बताया जाता है कि पहलापुरा के रहने वाले अरविंद पांडे का बाॅयो डीजल पेट्रोल पंप है। बेटी नैंसी की बीती 20 फरवरी को इंटरमीडिएट की परीक्षा थी। इससे पहले ही उसकी बीमारी से मौत हो गई। बेटी की मौत ने दंपति को इतना तनावग्रस्त कर दिया कि
बड़ी खबरः बांदा पहुंची एक और श्रमिक स्पेशल ट्रेन, गुजरात से आए 1900 से ज्यादा प्रवासी मजदूर

बड़ी खबरः बांदा पहुंची एक और श्रमिक स्पेशल ट्रेन, गुजरात से आए 1900 से ज्यादा प्रवासी मजदूर

समरनीति न्यूज, बांदाः गुजरात में फंसे बांदा व दूसरे जिलों के 1900 से ज्यादा मजदूरों को लेकर एक और श्रमिक स्पेशल ट्रेन आज यहां पहुंची। अपने निर्धारित समय सुबह करीब 6 बजे यह ट्रेन आ गई। प्रशासन ने इन प्रवासियों की जांच से लेकर खाने-पीने की व्यवस्था कर रखी थी। इसके बाद इनको ट्रेनों से उतारने के बाद बसों से क्वारंटीन सेंटर भेजा। बांदा के सिर्फ 46, बाकी दूसरे जिलों के श्रमिक बताते हैं कि क्वारंटीन सेंटरों पर इन प्रवासियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। इसके बाद जो श्रमिक दूसरे जिलों से आए हैं, उनको बसों से उनके घर पहुंचवाया जाएगा। इस मौके पर जिला प्रशासन के अधिकारी मौजूद रहे। ट्रेन से उतरने के बाद श्रमिकों के चेहरों पर थकान के साथ-साथ घर लौटने की खुशी भी झलक रही है। वह जांच को लेकर थोड़े असहज जरूर थे, लेकिन कहीं न कहीं उनके चेहरों पर घर लौट आने का सकून भी था। लखनऊ-जालौन-प्रयागराज के प्रवास
Good News: बांदा आयुक्त और परिवार की कोरोना (Covid-19) जांच रिपोर्ट निगेटिव

Good News: बांदा आयुक्त और परिवार की कोरोना (Covid-19) जांच रिपोर्ट निगेटिव

समरनीति न्यूज, बांदाः चित्रकूटधाम मंडल के लिए सोमवार को एक अच्छी खबर सामने आई है। रविवार को पता चला था कि जिले में जो लोग कोरोना पाॅजिटिव (Covid-19) पाए गए थे उनमें एक बांदा के आयुक्त गौरवदयाल का फालोअर यानी कुक है। ऐसे में आयुक्त और उनके परिवार को लेकर भी चिंता बढ़ गई थी, लेकिन अच्छी बात यह है कि आज सोमवार को आयुक्त और उनके परिवार के सदस्यों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। जिले के स्वास्थ्य विभाग की ओर से इसकी पुष्टि की गई है। जिले के सरकारी महकमों और आम लोगों ने भी इस अच्छी खबर पर खुशी जताई है। झांसी से सोमवार शाम आई रिपोर्ट बताया जाता है कि आयुक्त और उनकी पत्नी व बच्चों का सैंपुल जांच के लिए भेजा गया था। यह सैंपुल जांच के लिए झांसी स्थित लैब गया था। इसकी सोमवार शाम को आई रिपोर्ट निगेटिव निकली। इसके साथ ही पूरी सरकार मशीनरी और मंडल के लोगों ने राहत की सांस ली। संबंधित खबर यहां पढ़ेंः बा
बांदा से बड़ी खबरः कमिश्नर का फालोअर कोरोना पाॅजिटिव, आयुक्त की भी होगी जांच

बांदा से बड़ी खबरः कमिश्नर का फालोअर कोरोना पाॅजिटिव, आयुक्त की भी होगी जांच

समरनीति न्यूज, बांदाः जिले से रविवार को एक बेहद चौंकाने वाली खबर सामने आई है। दरअसल, बांदा में रविवार को दो लोग कोरोना पाजिटिव मिले हैं। इनमें एक चित्रकूटधाम मंडल के आयुक्त गौरव दयाल का फालोअर बताया जा रहा है। ऐसे में सरकारी महकमों में हड़कंप मच गया है। दरअसल, प्रशासन की ओर से कोरोना पाॅजिटिव केस के मामलों में दोनों युवकों के नाम-पते तो स्पष्ट किए गए थे, लेकिन वे कौन हैं और क्या करते हैं, यह नहीं बताया गया था। दोपहर होते-होते साफ हुआ कि इनमें से एक मेडिकल कालेज का वार्ड ब्याय है और दूसरा आयुक्त गौरव दयाल का फालोअर है। इससे सरकारी महकमों में बुरी तरह से हड़कंप मचा हुआ है। पूरे स्टाफ को क्वारंटाइन किया जा रहा है। कमिश्नर व परिवार के सैंपुल जांच को गए अब बांदा के कमिश्नर के आवास को सेनेटाइज करने के साथ ही कोरोना प्रोटोकाल के अनुसार व्यवस्था की गई है। बताया जाता है कि कमिश्नर गौरव दयाल और उन
बांदाः पूर्व कांग्रेस मंत्री विवेक सिंह का निधन, दिल्ली के मैक्स हॉस्पिटल में थे भर्ती

बांदाः पूर्व कांग्रेस मंत्री विवेक सिंह का निधन, दिल्ली के मैक्स हॉस्पिटल में थे भर्ती

समरनीति न्यूज, बांदाः आज शुक्रवार को बांदा के लिए एक ह्रद्यविदारक खबर सामने आई है। जिले के बड़े कांग्रेसी नेता एवं पूर्व मंत्री विवेक कुमार सिंह का शुक्रवार सुबह 7:30 बजे दिल्ली के मैक्स हॉस्पिटल में निधन हो गया। वह काफी समय से बीमार थे। बीती रात उनको वेंटिलेटर पर रखा गया था। उनकी हालत लगातार गंभीर बनी हुई थी। उनके निधन की सूचना से उनके समर्थकों व बांदा के लोगों में शोक की लहर दौड़ गई है। कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजेश दीक्षित ने इसकी पुष्टि की। बताया जा रहा है कि उनका अंतिम संस्कार शनिवार को किया जा सकता है। उनके निधन से पूरे बांदा में शौक है। उनके समर्थक ही नहीं, बल्कि दूसरी पार्टियों के विपक्षी नेताओं ने भी उनके निधन पर दुख प्रकट किया है। कार्य से जनता के दिलों में बनाई थी जगह बताया जाता है कि ऊर्जा राज्य मंत्री रहते हुए पूर्व सदर विधायक विवेक सिंह ने शहर की सड़क और बिजली जैसी समस्याओं को
झांसी में पहला कोरोना पाॅजिटिव मिलने से हड़कंप, शहर का यह इलाका सील..

झांसी में पहला कोरोना पाॅजिटिव मिलने से हड़कंप, शहर का यह इलाका सील..

समरनीति न्यूज, बांदा/झांसीः बुंदेलखंड के झांसी में आज सोमवार को पहला कोरोना पाॅजिटिव मरीज सामने आया है। इससे जिले में हड़कंप मच गया है। रविवार को जांच को भेजे गए 114 लोगों के सैंपुल में एक के कोरोना पाॅजिटिव होने की पुष्टि हुई है। बताते हैं कि यह व्यक्ति कुछ दिन पहले इंदौर से लौटा था। मामले सामने आने के बाद प्रशासन ने उक्त व्यक्ति के इलाके को हॉटस्पॉट घोषित करते हुए पूरी तरह सील कर दिया है। प्रशासन ने सील किया इलाका, हाॅटस्पाॅट घोषित इस मामले में झांसी जिलाधिकारी आंद्रा वामसी ने एक व्यक्ति में कोरोना संक्रमण की पुष्टि की है। जिलाधिकारी ने कहा है कि 59 साल का यह शख्स हाल ही में इंदौर से लौटा है। वह ओरछा गेट इलाके का रहने वाला है। जिलाधिकारी ने बताया है कि इलाके को हॉटस्पॉट घोषित करते हुए पूरी तरह सील किया गया है। साथ ही इस संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए लोगों को भी जांच के लिए चिह्नित
लाॅकडाउन में गोलमालः हैंडपंप से निकल रही थी शराब, पुलिस ने खोला राज

लाॅकडाउन में गोलमालः हैंडपंप से निकल रही थी शराब, पुलिस ने खोला राज

समरनीति न्यूज, झांसीः लाॅक डाउन के बीच एक अजीबों गरीब मामला सामने आया है। एक ऐसा हैंडपंप मिला है जिसका हत्था चलाते ही पानी की जगह शराब निकलने लगती थी। जंगल में लगे इस हैंडपंप ने सबको खूब चौंकाया। सूचना पर पुलिस भी जांच को पहुंची। काफी खोजबीन के बाद हकीकत का खुलासा हुआ। दरअसल, हैंडपंप को जमीन में गाढ़े गए ड्रमों से जोड़ा गया था जिसमें शराब भरी थी। ये काम इतनी चालाकी से किया गया था कि किसी को जरा भी शक नहीं हो रहा था कि हैंडपंप को शराब तस्करी के लिए लगाया गया है। शराब माफियाओं ने अपनाया हथकंडा पुलिस ने शुक्रवार को जमीन से हैंडपंप उखाड़ा तो सारा गोलमाल सामने आ गया। दरअसल, यह हैंडपंप डहरौली गांव में एक डेरे पर लगा था। मौके से पुलिस ने दो महिलाओं को गिरफ्तार किया, जो शराब माफियाओं की साथी बताई जा रही हैं। महिलाओं ने पुलिस को बताया है कि ये तरीका शराब बेचने के लिए अपनाया गया था। इस हैंडपंप से
कानून की लाठीः बांदा में हथौरा मदरसा संचालक समेत 7 जमातियों पर मुकदमा

कानून की लाठीः बांदा में हथौरा मदरसा संचालक समेत 7 जमातियों पर मुकदमा

समरनीति न्यूज, बांदाः जिले को कोरोना के संकट में डालने वाले जामिया अरबिया मदरसा (हथौरा) के संचालकों का झूठ उनपर भारी पड़ा। मदरसे में दिल्ली मरकज से लौटे किसी छात्र के होने की जानकारी छिपाने वाले हथौरा मदरसा संचालक समेत 7 जमातियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है। बांदा के विश्वविख्यात कहे जाने वाले हथौड़ा मदरसा संचालक के खिलाफ मुकदमे की खबर तेजी से शहर में फैली। बता दें कि हथौरा संचालकों ने समाज के प्रति गैरजिम्मेदारी दिखाते हुए उच्चाधिकारियों से यह जानकारी छिपाई थी कि उनके मदरसे में ऐसे छात्र भी हैं जो दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में तब्लीगी जमात में शामिल होकर लौटे हैं। वह भी ऐसे वक्त जब पूरा देश कोरोना वायरस के संकट से जूझ रहा है। संचालकों पर झूठ बोलने का आरोप बता दें कि इसी तब्लीगी जमात ने पूरे देश को कोरोना संकट में झोंका है। अब बांदा में भी तब्लीगी जमात से लौटे लोग कोरोना संकट का कारण बन
बड़ी खबरः बांदा में पहला कोरोना पाॅजीटिव केस मिला, दिल्ली मरकज से लौटा था शहर

बड़ी खबरः बांदा में पहला कोरोना पाॅजीटिव केस मिला, दिल्ली मरकज से लौटा था शहर

समरनीति न्यूज, बांदाः जिले में शुक्रवार को एक बड़ी और चौंकाने वाली खबर सामने आई है। बांदा में पहला कोरोना पाॅजीटिव केस सामने आ गया है। यह कोरोना पाॅजिटिव केस वाला युवक मुस्लिम है और करीब 20 दिन पहले  दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज से तब्लीगी जमात में शामिल होकर लौटा था। करीब 20 दिन से वह बांदा में खुला घूम रहा था। इतना कुछ होने के बाद भी उसने खुद प्रशासन के सामने आकर यह बताने की कोशिश नहीं की, कि वह भी जमात में शामिल रहा है। एक दिन पहले हथौ़ड़ा मदरसे पर छापे के बाद वहां के छात्रों के साथ ही उसे भी प्रशासन ने पकड़कर भर्ती कराया था। दिल्ली जमात से लौटा था 20 दिन पहले मामले में मंडलायुक्त गौरव दयाल ने बताया है कि साजिद अली पुत्र मोहम्मद अली निवासी गुलरनाका की जांच रिपोर्ट में वह कोरोना पाॅजिटिव पाया गया है। बताते हैं कि वह दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज की तब्लीगी जमात में शामिल हुआ था। वहां