Monday, July 6सही समय पर सच्ची खबर...
Shadow

अपडेटः हाइवे पर हादसे में मां व दो बेटों की मौत, छत्तीसगढ़ से बेटी की शादी करने यूपी के कासगंज जा रहा था परिवार

accident kanpur agra highway mother and two son death from chattishgarh

समरनीति न्यूज, कानपुर/इटावाः कानपुर-इटावा हाइवे पर हुए एक दर्दनाक हादसे में एक बोलेरो गाड़ी सामने से आ रहे ट्रक से जा टकराई। इससे बोलेरो में सवार एक मां और दो बेटों की मौत हो गई, जबिक पांच लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों में दो को सैफई मेडिकल कालेज रेफर कर दिया गया है। यह हादसा आज बुधवार तड़के सुबह करीब 5 बजे इटावा जिले के बकेवर थाना क्षेत्र में परसुपुरा गांव के पास हुआ। मरने वाले लोग छत्तीसगढ़ के थे जो काफी साल बाद अपने पैतृक घर यूपी के कासगंज बेटी की शादी करने पहुंच रहे थे। ऐसे में शादी की खुशियों पर जैसे ग्रहण लग गया। 

कासगंज के रहने वाले थे परिवार के मुखिया

हादसे ने पूरे परिवार के सपने चकनाचूर कर दिए। साथ ही परिवार के तीन सदस्य हमेशा के लिए काल के गाल में समा गए। वहीं कासगंज के लोगों को जब इसकी जानकारी हुई तो रोते-बिलखते रिश्तेदार अपनों को देखने अस्पताल पहुंचे। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।  

 

Fierce accident on Kanpur-Agra highway, mother and two sons killed, 5 injured

छत्तीसगढ़ से कासगंज जाते वक्त हादसा

बताया जाता है कि बोलेरो सवार परिवार यूपी के कासगंज जिले के चिरोरादेवी ढुलना का मूल रूप से रहने वाला था। वहां के रहने वाले राजाराम अब परिवार के साथ छत्तीसगढ़ में जाकर रहने वाले थे। उनका कपड़ों का व्यवसाए था। बताते हैं कि उनका सपना था कि वह अपनी बड़ी बेटी 20 साल की आरती की शादी अपने गांव से करना चाहते थे। इसीलिए बीती रात छत्तीसगढ़ से परिवार के साथ बोलेरो से अपने पैतृक गांव कासगंज के लिए निकले थे। रास्ते में आते-आते बुधवार तड़के सुबह 5 बजे उनकी बोलेरो की इटावा के बकेवर हाइवे पर परशुपुर गांव के पास ट्रक से टक्कर हो गई। टक्कर बेहद भीषण थी।

ये भी पढ़ेंः यूपीः 10 IPS अफसरों के तबादले, प्रशांत कुमार नए ADG लॉ एंड ऑर्डर

बोलेरो सवार बुरी तरह से घायल हो गए। चीख-पुकार सुनकर आसपास के लोग मौके पर दौड़े और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने घायलों को अस्पताल पहुंचाया। वहां पहुंचने से पहले ही राजाराम की पत्नी रेखा (40) उनका बेटा बंटी (18) और पंकज (13) की सांसें थम चुकी थीं। चिकित्सकों ने उनको मृत घोषित कर दिया। वहीं राजाराम और उनके ड्राइवर कमल को गंभीर हालत में सैफई मेडिकल कालेज भेज दिया गया है। वहीं आरती और उनकी बहन वर्षा और निशा का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है। जानकारी होने पर राजाराम के गांव के लोग रोते-बिलखते अस्पताल पहुंचे।

ये भी पढ़ेंः हादसाः हमीरपुर में पलटी नोएडा से प्रवासियों को ला रही रोडवेज बस, 15 घायल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *