Thursday, June 4सही समय पर सच्ची खबर...

चित्रकूटः सड़कों पर उतरे हजारों किसान, मंत्री का काफिला रोका-नारेबाजी

Thousands of farmers jammed Bundelkhand roads and stopped convoy of minister in charge Nandi

समरनीति न्यूज, बांदा/चित्रकूटः बीते लगभग एक सप्ताह से लगातार रुक-रुक हो रही भारी बारिश और ओलावृष्टि से तबाह हो चुके किसान का सब्र आज शनिवार को टूट पड़ा। हजारों की संख्या में किसान सड़कों पर उतर आए। करीब 4 घंटे तक हाइवे जाम रहा। किसानों ने चित्रकूट के प्रभारी मंत्री के काफिले को भी रोक लिया। करीब 4 घंटे तक किसान हाइवे पर डटे रहे। दोनों ओर से वाहनों की लंबी कतार लग गई। किसानों का गुस्सा इस बात को लेकर था कि उनके नुकसान का जायजा लेने की घोषणा के बाद भी ज्यादातर जगहों पर सर्वेयर नहीं पहुंच रहे हैं।

झांसी-मिर्जापुर हाईवे पर 8 जगहों पर जाम

जानकारी के अनुसार झांसी-मिर्जापुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर किसानों ने करीब 8 जगह जाम लगाया। साथ ही किसानों जिला प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी भी की।

Thousands of farmers jammed Bundelkhand roads and stopped convoy of minister in charge Nandi

फसल नुकसान का जायजा न लेने का आरोप

दरअसल, किसानों का गुस्सा इस बात को लेकर था कि बीते चार दिनों के भीतर उनकी महीनों के मेहनत पर बारिश और ओलावृष्टि ने पूरी तरह से पानी फेर दिया है। उनकी फसलें चौपट हो चुकी हैं और पूरी तरह से बर्बादी की कगार पर गए हैं। शुक्रवार को तो मानो प्रकृति पूरी तरह से किसानों से नाराज हो गई। आसमान से गिरे ओलों ने पूरी की पूरी फसलों को चौपट कर दिया। दूसरी ओर जिला प्रशासन ने 24 घंटे के भीतर क्षति का आंकलन करने के निर्देश तो दिए, लेकिन ज्यादातर जगहों पर प्रशासन के सर्वेयर मौके पर पहुंचे ही नहीं।

Thousands of farmers jammed Bundelkhand roads and stopped convoy of minister in charge Nandi

झांसी-मिर्जापुर हाइवे पर आठ जगह जाम

इसी को लेकर किसानों का गुस्सा फूट पड़ा। झांसी-मिर्जापुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर मऊ तहसील क्षेत्र के देउंधा, रामनगर, खोर, लोधौरा, बांधी, इटहा देवीपुर, जोरवारा व लालता रोड़ चौराहे पर हजारों किसानों विरोध करते हुए जाम लगा दिया।

ये भी पढ़ेंः यूपीः मौसम विभाग का 72 घंटे का अलर्ट, भारी बारिश-ओलावृष्टि बनेगी आफत

अलग-अलग जगहों पर एक के बाद एक जाम की सूचनाएं मिलने से पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी भी परेशान नजर आए। किसानों का कहना था कि शतप्रतिशत फसल बर्बाद हो चुकी है, लेकिन इसके बाद भी राजस्व टीमें नुकसान का जायजा लेने नहीं पहुंच रही हैं।

प्रभारी मंत्री नंदी को रोका, समझाकर शांत

किसान जाम लगाए थे कि इसी दौरान चित्रकूट के प्रभारी मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी प्रयागराज से आते समय उसमें फंस गए। किसानों ने मंत्री के काफिले को भी रोक लिया। देउंधा के पास लगे जाम को देखते हुए मंत्री गाड़ी से उतरकर किसानों से बात करने पहुंचे। प्रभारी मंत्री व मानिकपुर के विधायक आनंद शुक्ला ने किसानों को मुआवजे का आश्वासन देकर किसी तरह समझाया।

ये भी पढ़ेंः अभी 15 मार्च तक बिगड़ा रहेगा मौसम, लखनऊ-कानपुर-बुंदेलखंड समेत कई शहरों में बारिश

इसके बाद किसानों ने जाम खोला। इस मामले में प्रभारी मंत्री ने कहा कि जिला प्रशासन की टीमें क्षति का आंकलन कर रही हैं। उन्होंने कहा कि करीब 37 हजार किसानों के ओलावृष्टि से प्रभावित होने की सूचना है। साथ ही 138 गांवों में लगभग 17 करोड़ की फसल बर्बादी की जानकारी मिल रही है। बीमित 18054 किसानों को लगभग पांच करोड़ की सहायता बीमा कंपनी से मिलेगी। खाते में जल्द ही क्षति का 25 फीसदी अंश पहुंचेगा।

ये भी पढ़ेंः यूपी में 22 तक सभी स्कूल-कॉलेज बंद, कोरोना महामारी घोषित

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *