Thursday, January 23सही समय पर सच्ची खबर...

बांदाः जल शक्ति मंत्री बोले, बुंदेलखंड का विकास देखने आएगी दुनिया

water power minister mahendra singh in Banda

समरनीति न्यूज, बांदाः जल शक्ति एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग के मंत्री डा महेंद्र सिंह ने कहा कि बुंदेलखंड का चहुमुखी विकास होगा। दुनिया के लोग बुंदेलखंड देखने के लिए आएंगे। उन्होंने कहा कि प्रत्येक घर को नल से शुद्ध जल की आपूर्ति संबंधी नौ हजार करोड़ की योजना फरवरी से शुरू हो जाएगी। प्रत्येक घर को शुद्ध जल प्राप्त हो सकेगा। ये बातें कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में बुंदेलखंड विकास इश्यूज, विषय पर आयोजित सेमिनार में जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ने कहीं। जलशक्ति मंत्री ने कहा कि सिंचाई विभाग द्वारा अगले वर्ष तक नई परियोजनाओं को पूरा करके बुंदेलखंड क्षेत्र की दो लाख हेक्टेयर भूमि और सिंचित की जाएगी।

seminor in Banda

कहा, हर क्षेत्र पर ध्यान दे रही है सरकार

इससे किसानों की उत्पादकता बढ़ेगी। जलशक्ति मंत्री ने कहा कि जलवायु परिवर्तन रोकने के लिए भी प्रदेश सरकार द्वारा जल संरक्षण तथा पौधरोपण जैसे प्रभावी प्रयास जारी हैं। नदियों को स्वच्छ बनाने का काम हो रहा है। चित्रकूट में हवाई अड्डा शीध्र प्रारंभ होगा। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का निर्माण अगले माह से शुरू होगा। इससे इस क्षेत्र की कनेक्टीविटी बढ़ेगी और दूर-दूर से लोग बुंदेलखंड की कला और संस्कृति को देखने के लिए आ सकेंगे।

ये भी पढ़ेंः ‘समरनीति न्यूज’ के कार्यालय पहुंचे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने दी बधाई

इस दौरान अपर मुख्य सचिव नियोजन कुमार कमलेश, सेमिनार में प्रमुख सचिव सिंचाई टी. वेंकटेश, निदेशक डा. विष्णु प्रताप सिंह आदि ने अपने विचार रखें। आज सेमिनार के समापन के मौके पर बोलते हुए मप्र सरकार के सचिव उमाकांत उमराव ने कहा कि 90 प्रतिशत पानी महज आर्थिक लाभ के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

वक्ताओं ने जल संकट पर रखे अपने विचार

35 करोड़ हेक्टेयर में हमारे देश में पानी होता है, लेकिन उसे संरक्षित करने का कोई तकनीकी उपाय नहीं किया जाता। बुंदेलखंड विकास बोर्ड चेयरमैन बादल सिंह ने कहा कि भूमि का समतलीकरण कराना बहुत ही आवश्यक है। इस अवसर पर कृषि राज्यमंत्री लाखन सिंह राजपूत, व्यावसायिक शिक्षामंत्री कमला रानी, उपाध्यक्ष बुंदेलखंड विकास बोर्ड राजा बुंदेला, अयोध्या प्रसाद पटेल, केवी राजू, सांसद भानू प्रसाद वर्मा, आयुक्त चित्रकूटधाम मंडल गौरव दयाल, जिलाधिकारी बांदा हीरा लाल आदि मौजूद रहे। इसी के साथ आज सेमिनार का समापन हो गया।

ये भी पढ़ेंः गुरूकुल शिक्षा अंगीकार की होती तो उच्च शिक्षा से न निकलते अराजकः मुख्यमंत्री योगी

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *