Wednesday, September 22सही समय पर सच्ची खबर...
Shadow

Good News : बांदा मेडिकल कालेज में आक्सीजन प्लांट शुरू, Dm ने खुद कराई टेस्टिंग

Banda DM Anand Singh's special appeal to the public on International Yoga Day

समरनीति न्यूज, बांदा : कोविड की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की समस्या से बांदा के राजकीय मेडिकल कालेज में मरीजों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा था। लोगों ने जान भी गंवाई। अव्यवस्था लोगों पर काफी भारी पड़ी थी लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। जिलाधिकारी आनंद कुमार सिंह के प्रयासों से मेडिकल कालेज में स्थापित आक्सीजन प्लांट समय से शुरू हो गया है।

अब मरीजों के बेड तक पाइपलाइन से पहुंचेगी ऑक्सीजन

इतना ही नहीं पीएसए टेक्नालाजी पर आधारित ऑक्सीजन जनरेशन 960 LMP (Leetar per minute) क्षमता वाले इस प्लांट की टेस्टिंग जिलाधिकारी ने खुद अपने सामने मौजूद रहते हुए कराई। बताया गया कि प्लांट पीएसए टेक्नालाजी पर आधारित है।

Good News : Oxygen plant started in Banda Medical College, DM got it tested

बताया जाता है कि प्लांट लगाने वाली कंपनी का दावा है कि 93 प्रतिशत शुद्धता की ऑक्सीजन मरीजों को इस प्लांट से मिल सकेगी। बताते हैं कि गाइडलाइन के अनुसार 48 से 72 घंटे तक ऑक्सीजन सप्लाई की टेस्टिंग होगी।

क्षमता 24 घंटे में 1440 क्यूबिक मी. आक्सीजन बनाने की

इस प्लांट से 24 घंटे में 1440 क्यूबिक मी. ऑक्सीजन तैयार होगी। मेडिकल कालेज के प्रधानाचार्य ने बताया है कि ऑक्सीजन प्लांट के सेंट्रल पाइप के माध्यम से मराजों को जरूरत पड़ने पर बेडों तक ऑक्सीजन मुहैया कराई जाएगी। साथ ही प्लांट से 24 घंटों में डी टाइप से लगभग 200 सिलेंडर अलग से भरकर स्टोर किए जा सकते हैं।

ये भी पढ़ें : कोरोना से जंग : बांदा DM ने तलब की आक्सीजन स्टाक पर रिपोर्ट, नाइट कर्फ्यू बढ़ाया

दावा किया कि मौजूदा वक्त में मेडिकल कालेज में 1000 डी टाइप के सिलेंडर मौजूद हैं। अच्छी बात यह है कि प्लांट चालू होने के बाद अब मरीजों तक बेड तक पाइप लाइन के जरिए ऑक्सीजन पहुंच सकेगी। सिलेंडर की जरूरत समाप्त हो जाएगी। इससे मैन पावर की जरूरत घटेगी। साथ ही ऑक्सीजन समय पर न मिलने से होने वाली मृत्युदर भी कम होगी। इस मौके पर डिप्टी कलेक्टर अवधेश निगम भी मौजूद रहे। कार्यदायी संस्था के प्रोजेक्ट मैनेजर मनोज कुमार, कंपनी के इलेक्ट्रीकल इंजीनियर कार्तिके एवं मैकेनिकल इंजीनियर विधान सिंह मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें : Doctor’s Day : बांदा मेडिकल कालेज में कार्यक्रम, डाक्टर्स का सम्मान

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *