Saturday, July 2सही समय पर सच्ची खबर...
Shadow

खास खबर : यूपी की बिजनौर जेल में नवरात्र के 9 दिन 11 मुस्लिम बंदी रहे व्रत, हवन में दीं आहुतियां..

Mutual harmony : 11 Muslim prisoners kept fast on 9 days of Navratri in Bijnor Jailसमरनीति न्यूज, बिजनौर : कभी-कभी कुछ घटनाक्रम आपसी सौहार्द की ऐसी मिसाल कायम करते हैं कि लोगों को सोचने पर मजबूर होना पड़ता है। पश्चिमी यूपी के बिजनौर जिला कारागार में मुस्लिम बंदियों ने सलाखों के पीछे से आपसी भाईचारे की ऐसी ही तस्वीर पेश की है। दरअसल, 11 मुस्लिम बंदियों ने नवरात्र के पूरे 9 दिन तक व्रत रखकर मां दुर्गा की आराधना की। इतना ही नहीं अष्टमी पर हवन-पूजन में शामिल भी हुए, आहूतियां भी दीं। बता दें कि बुधवार को जिला कारागार में दुर्गा अष्टमी के मौके पर पूजन व हवन का आयोजन हुआ। इसके लिए सुबह-सवेरे अलग से बैरक की सजावट की गई। फिर माता की चौकी रखकर बंदियों ने वहां बैठकर पूजा की।

9 पुरुष और 2 मुस्लिम महिला बंदियों ने रखा व्रत

बंदियों ने हवन-पूजन में आहुतियां देते हुए मां भवानी से सभी के लिए मंगल कामना की। खास बात यह थी कि इस बार नवरात्र पर 11 मुस्लिम बंदी भी शामिल हुए। इन मुस्लिम बंदियों ने पूरे 9 दिन व्रत रखा और अष्टमी के मौके पर वाकयदा हवन-पूजन में शामिल हुए। इन बंदियों ने साबित कर दिया कि ईश्वर को धर्म के आधार पर नहीं बांट सकते हैं। वह सबका है और एक ही है।

ये भी पढ़ें : मुस्लिम युवती ने हाथ पर श्री राम लिखाकर पेश की एकता की मिसाल

बताते हैं कि बिजनौर जिला कारागार में इस बार नवरात्र के मौके पर 290 बंदियों ने 9 दिन का व्रत रखा। इनमें 13 महिला बंदी भी शामिल रहीं। 11 मुस्लिम बंदी भी पूजा से प्रभावित हुए और उन्होंने भी हिंदू रीति-रिवाज से पूरे 9 व्रत रखते हुए पूजन किया। हालांकि, बिजनौर जेल में कई अच्छे काम किए जाते हैं। जेल अधीक्षक बताते हैं कि जेल में रोजाना योग होता है। इसमें भी मुस्लिम बंदी पूरे मन से शामिल होते हैं। इसके अलावा भजन-कीर्तन के कार्यक्रमों में भी मुस्लिम बंदियों की बराबर सहभागिता रहती है।

क्या कहते हैं जेल के अधिकारी

बिजनौर के प्रभारी जेल अधीक्षक शैलेंद्र प्रताप सिंह से जब इस बारे में बात की गई, तो उन्होंने बताया कि कारागार में इस बार 290 बंदियों ने नवरात्र के मौके पर व्रत रखा।

ये भी पढ़ें : भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने ‘समरनीति न्यूज’ कार्यालय का किया उद्घाटन, विश्वसनीयता-निष्पक्षता को सराहा

श्री सिंह ने कहा कि इनमें 11 मुस्लिम बंदी भी शामिल रहे हैं। बताया कि इन बंदियों ने पूरे नौ दिन तक व्रत रखते हुए सिर्फ फलाहार किया। व्रत रखने वाले ये बंदी व्रत में भी शामिल हुए हैं।

इन मुस्लिम बंदियों ने रखे नवरात्र के व्रत

बिजनौर जेल में जिन मुस्लिम बंदियों ने इस बार नवरात्र के व्रत रखे हैं, वे कोई मामूली अपराधी नहीं हैं, बल्कि हत्या और दूसरी बड़े अपराधों में आरोपित हैं। इनमें रिजवान हत्या, फरमान दुष्कर्म/पॉक्सो, जुल्फिकार चोरी, शादाब जानलेवा हमला, अमजद हत्या, गुलफाम हत्या, शमशाद हत्या, शहबाज दुष्कर्म/पॉक्सो, शाहवेज दुष्कर्म, एससी/एसटी एक्ट, अफसरी हत्या में आजीवन कारावास, नरगिस हत्या में बंद है।

ये भी पढ़ें : खास खबर : साथ पढ़ रहीं दो बहनें, तो स्कूलों को माफ करनी होगी एक की फीस-सीएम योगी

Leave a Reply

Your email address will not be published.