Wednesday, June 23सही समय पर सच्ची खबर...
Shadow

Tag: कृषि विश्वविद्यालय

CM योगी के बांदा कृषि विवि के किसान मेले में आने की संभावना,  होमवर्क में जुटा प्रशासन

CM योगी के बांदा कृषि विवि के किसान मेले में आने की संभावना, होमवर्क में जुटा प्रशासन

Breaking News, Feature, Today's Top four News, उत्तर प्रदेश, बांदा, बुंदेलखंड
समरनीति न्यूज, बांदा : बांदा के कृषि विश्वविद्यालय में 20 फरवरी से देश के 7 राज्यों के किसानों का एक मेला लगने जा रहा है। इस मेले में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय कृषि मंत्री के आने की संभावना है। बताते हैं कि दोनों के कार्यक्रम प्रस्तावित हैं। इसके मद्देनजर आज जिलाधिकारी आनंद कुमार सिंह समेत अन्य अधिकारियों ने विश्वविद्यालय परिसर में हेलीपैड और संबंधित सुरक्षा व्यवस्था को लेकर निरीक्षण किया। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का निरीक्षण भी कर सकते हैं सीएम बताया जा रहा है कि इस दौरान मुख्यमंत्री योगी निर्माणाधीन बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का भी निरीक्षण कर सकते हैं। इसके लिए जिलाधिकारी ने लोनिवि के अधिकारियों के साथ वहां का भी निरीक्षण किया है। बताया जाता है कि बांदा के कृषि विवि में उत्तर क्षेत्रीय किसान मेले का आयोजन होने जा रहा है। यह मेला 20 फरवरी से शुरू होगा। इसमें 7 राज्य...
बांदा कुलपति बोले, मशरूम से 4 गुना फायदा

बांदा कुलपति बोले, मशरूम से 4 गुना फायदा

Breaking News, Feature, Today's Top four News, उत्तर प्रदेश, बांदा, बुंदेलखंड
समरनीति न्यूज, बांदा : बांदा कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति बोले, मशरूम उत्पादन से चार गुना फायदा दे सकता है। उन्होंने कहा कि मशरूम व्यवसाय विभिन्न समस्याओं जैसे प्राकृतिक विषमताएं, बेरोजगारी और पलायन को दूर कर सकता है। साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं-बच्चों में कुपोषण को भी दूर करने में सहायक होगा। कहा कि मशरूम की खेती से एक साथ कई फायदे हैं। साथ ही कई गुना फायदा कमाया जा सकता है। यह युवाओं के लिए बड़ा रोजगार साबित होगा। 10 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन दरअसल, कृषि विश्वविद्यालय में मशरूम अनुसंधान एवं प्रशिक्षण केंद्र में आयोजित 10 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन हुआ। कुलपति डा. यूएस गौतम के निर्देशन में यह प्रशिक्षण कार्यक्रम 3 फरवरी से शुरू किया गया था जो कि 12 फरवरी को पूरा हो गया। इसके बाद कुलपति ने प्रशिक्षित युवाओं को उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं। कहा कि अगर को...
बांदा में कानपुर सीएसए के सेवानिवृत कर्मी की हादसे में मौत, बेटा रेफर 

बांदा में कानपुर सीएसए के सेवानिवृत कर्मी की हादसे में मौत, बेटा रेफर 

Breaking News, Feature, Today's Top four News, उत्तर प्रदेश, कानपुर, बांदा, बुंदेलखंड
समरनीति न्यूज, बांदा : बांदा में हुए सड़के हादसे में बाइक सवार कानपुर के रहने वाले एक व्यक्ति की मौत हो गई। वहीं उनका बेटा गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल को इलाज के लिए कानपुर रेफर कर दिया गया है। हादसा उस वक्त हुआ जब दोनों बाइक से कानपुर लौट रहे थे। रास्ते में अज्ञात वाहन ने उनकी बाइक को टक्कर मार दी। पुलिस का कहना है कि वाहन चालक के बारे में जानकारी कर उसकी गिरफ्तारी करने का प्रयास किया जा रहा है। बताया जाता है कि मूलरूप से कानपुर के कल्याणपुर निवासी रामस्वरूप गुप्ता (63) बांददा के काजीटोला गांव में निर्माणाधीन मकान में काम करने वाले मजदूरों को मजदूरी देकर कानपुर बेटे के साथ बाइक से लौट रहे थे। कानपुर के स्वरूप नगर के रहने वाले थे रामस्वरूप बबेरू कोतवाली क्षेत्र के निभौर गांव के मोड़ के पास सामने से आ रहे तेज रफ्तार अज्ञात वाहन ने उनकी बाइक में टक्कर मार दी। दोनों पिता-पुत्र गंभीर रूप स...
बांदा में कुलपति बोले, बुंदेलखंड में जैविक खेती की अपार संभावनाएं

बांदा में कुलपति बोले, बुंदेलखंड में जैविक खेती की अपार संभावनाएं

Breaking News, Feature, उत्तर प्रदेश, खेत किसान, बांदा, बुंदेलखंड
समरनीति न्यूज, बांदाः जैविक खेती न सिर्फ आम इंसान के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है, बल्कि इससे दूसरे जीवों और मृदा को भी फायदा पहुंचता है। इतना ही नहीं जैविक खेती में मृदा को सजीव मानकर कृषि क्रियाएं की जाती हैं। वहीं दूसरी ओर रासायनिक उर्वरकों एवं पेस्टीसाइड से मृदा के भीतर पाए जाने वाले लाभकारी जीव भी प्रभावित होते हैं। ये बातें आज शनिवार को यहां बांदा कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डा. यूएस गौतम ने कहीं। वह आज यहां विश्वविद्यालय में आयोजित दो दिवसीय आनलाइन ''जैविक खेती-अजीविका सुरक्षा एवं वैश्विक मांग को पूरा करने के लिये एक स्थायी दृष्टिकोण'' विषयक पर आयोजित राष्ट्रीय वेबीनार में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। आनलाइन दो दिवसीय वेबीनार का आयोजन डा. गौतम ने कहा कि विश्व में भारत जैविक खेती में नौवें स्थान पर है, वहीं कुल किसानों की संख्या के हिसाब से देखा जाए तो पहले स्थान पर है। डा. गौतम न...
Corona fight: बांदा कृषि विश्वविद्यालय मंडल के हर जिले को देगा 1 हजार माॅस्क

Corona fight: बांदा कृषि विश्वविद्यालय मंडल के हर जिले को देगा 1 हजार माॅस्क

Breaking News, Feature, Today's Top four News, उत्तर प्रदेश, चित्रकूट, बांदा, बुंदेलखंड, महोबा, सेहत, हमीरपुर
समरनीति न्यूज, बांदाः कोरोना संकट (Covid-19) के चलते बांदा कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय लोगों की सुरक्षा के लिए नई पहल करेगा। विश्वविद्यालय के कुलपति डा यूएस गौतम ने बताया कि विश्वविद्यालय के अतर्गत संचालित सभी 6 कृषि विज्ञान केंद्रों पर 1000 माॅस्क तैयार कराए जा रहे हैं। ये कृषि विज्ञान केंद्र बांदा, महोबा, झांसी, जालौन, हमीरपुर और ललितपुर में हैं। कुलपति गौतम ने बताया कि माॅस्क सभी कृषि विज्ञान केंद्रों द्वारा पूर्व में प्रशिक्षित महिला स्वयं सहायक समूह द्वारा बनाए जा रहे हैं। कृषि विज्ञान केंद्रों पर बन रहे माॅस्क कृषि विज्ञान केंद्रों एवं स्वयं सहायता समूह द्वारा तैयार माॅस्क सभी संबंधित जिलाधिकारियों को भेंट दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इससे एक और जहां वैश्विक महामारी से बचने में सहयोग मिलेगा। वहीं दूसरी ओर स्वयं सहायता समूहों को रोजगार भी मिलेगा। ये भी पढ़ेंः अब बांदा कृषि व...
बांदा में राज्यपाल बोलीं- बातों से नहीं, काम से होगा बुंदेलखंड विकास

बांदा में राज्यपाल बोलीं- बातों से नहीं, काम से होगा बुंदेलखंड विकास

Breaking News, Feature, Today's Top four News, उत्तर प्रदेश, बांदा, बुंदेलखंड, लखनऊ
समरनीति न्यूज, बांदाः अपने तयशुदा कार्यक्रम के अनुसार राज्यपाल आनंदीबेन पटेल आज हेलीकाप्टर से बांदा पहुंची। यहां कृषि विश्वविद्यालय के पंचम दीक्षांत समारोह में शामिल हुईं। इस मौके पर राज्यपाल आनंदीबेन ने बुंदेलखंड में फैली कुरीतियों और यहां के पिछड़पन पर प्रहार किया। राज्यपाल ने कहा कि बुंदेलखंड में काफी संभावनाएं हैं, लेकिन यहां का पिछड़ापन सिर्फ भाषणों से दूर नहीं होगा। सरकार संग काम करें लोग इसके लिए जरूरी है कि आम लोगों को सरकार के साथ आकर काम करना होगा। कहा कि यहां अन्ना जानवर बड़ी समस्या हैं, लेकिन इस समस्या का कारण भी किसान खुद है। जानवर दूध देना बंद कर देता है और बूढ़ा हो जाता है तो उसे अन्ना छोड़ दिया जाता है। राज्यपाल ने कहा कि बारिश की एक-एक बूंद को संजोने का प्रबंध करना होगा। योजनाओं का क्रियान्वयन कहा कि योजनाओं की रेवड़ी बांटने की बजाए, उनको इस इलाके में सही ढंग से क्रिया...
मौसम विभाग की चेतावनीः यूपी के इन शहरों में 28 जुलाई तक होगी झमाझम बारिश

मौसम विभाग की चेतावनीः यूपी के इन शहरों में 28 जुलाई तक होगी झमाझम बारिश

Breaking News, Feature, Today's Top four News, उत्तर प्रदेश, कानपुर, चित्रकूट, बांदा, बुंदेलखंड, महोबा, लखनऊ
समरनीति न्यूज, डेस्कः मौसम विभाग की माने तो यूपी के कई जिलों और शहरों में 23 जुलाई से 28 जुलाई तक झमाझम बारिश होगी। इन जिलों में बांदा, इटावा, कन्नौज, फतेहपुर, हमीरपुर, हरदोई, चित्रकूट, उन्नाव, महोबा, घाटमपुर आदि शामिल हैं। कृषि यूनिवर्सिटी के मौसम विभाग ने दी चेतावनी   कानपुर के चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम विभाग ने यह चेतावनी दी है। मौसम विभाग का कहना है कि उत्तर पश्चिमी हवाओं के चलते इस मानसूनी बारिश का माहौल बन रहा है। यह बारिश बुंदेलखंड के अधिकांश इलाकों में होगी। मौसम विभाग के अनुसार हवाओं की रफ्तार 2.9 किलोमीटर प्रति घंटे तक मापी गई है और इसी के चलते बरसात की संभावना है। ये भी पढ़ेंः बुंदेलखंड में बरसी आग, बांदा में पारा 49.5 के पार, 17 साल का टूटा रिकार्ड...
बुंदेलखंड की परिस्थितियां जैविक खेती के लिए पूरी तरह अनुकूल- राजाबाबू सिंह

बुंदेलखंड की परिस्थितियां जैविक खेती के लिए पूरी तरह अनुकूल- राजाबाबू सिंह

Breaking News, Today's Top four News, उत्तर प्रदेश, बांदा, बुंदेलखंड
समरनीति न्यूज, बांदाः कृषि एवं प्रद्यौगिकी विश्वविद्यालय द्वारा बुंदेलखंड परिक्षेत्र के सभी सात जिलों बांदा, महोबा, हमीरपुर, चित्रकूट, जालौन, झांसी व ललितपुर में जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए एक जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। इसके लिए बुंदेलखंड जैविक कारीडोर की योजना तैयार की गई है। मंगलवार को ग्राम पचनेही में कृषि विज्ञान केंद्र के तत्वाधान में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि ग्राम पचेनही के निवासी एवं ग्वालियर (मप्र) के आईजी राजाबाबू सिंह रहे। श्री सिंह ने उपस्थित कृषकों एवं वैज्ञानिकों को संबोधित करते हुए कहा है कि बुंदेलखंड की परिस्थितियां व उपलब्ध संसाधन जैविक खेती के अनुकूल हैं। कृषि विश्वविद्यालय में जागरूकता अभियान कार्यक्रम    आईजी राजाबाबू सिंह ने कहा कि बुंदेलखंड की बहुत सी समस्याएं हैं, जिनमें अन्ना प्रथा एक प्रमुख समस्या है। यह समस्या नहीं बल्कि जै...
चरैवेति-चरैवेति के सिद्धांत को अपनाकर देश व समाज की उन्नति में भागीदार बनें छात्र – राम नाईक

चरैवेति-चरैवेति के सिद्धांत को अपनाकर देश व समाज की उन्नति में भागीदार बनें छात्र – राम नाईक

Feature, उत्तर प्रदेश, बांदा, बुंदेलखंड, भारत, लखनऊ
समरनीति न्यूज, बांदाः आज जिन छात्रों ने उपाधियां प्राप्त कर ली हैं उन्होंने अपने जीवन का एक बेहद महत्वपूर्ण पड़ाव पार कर लिया है। अब उनको अपने जीवन की एक नई यात्रा आरंभ करनी है और इस नई यात्रा में वे सभी चरैवेति-चरैवेती के सिद्धांत को जीवन में अपनाएं और देश व समाज की उन्नति के लिए कार्य करें। ये बातें उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने कहीं। श्री नाईक आज यहां बांदा कृषि विश्वविद्यालय के चौथे दीक्षांत समारोह में हिस्सा लेने आए हुए थे। बांदा कृषि विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में पहुंचे यूपी के राज्यपाल का छात्रों को उन्नति का मंत्र   इस दौरान राज्यपाल श्री नाईक ने कहा कि जो चलता रहता है उसका ही भाग्य चलता है। अगर आप सबको भी सूर्य की तरह प्रकाशवान बनना है तो सूर्य की तरह निरंतर चलते रहें। उन्होंने कहा कि ये दुनिया बहुत बड़ी है लेकिन अब दुनिया सबके नजदीक आ रही है। उदाहरण देत...
ओजोनपरत को सुरक्षित बनाने की बात ध्यान में रखकर करें हर काम – कुलपति

ओजोनपरत को सुरक्षित बनाने की बात ध्यान में रखकर करें हर काम – कुलपति

Breaking News, Today's Top four News, उत्तर प्रदेश, बांदा, बुंदेलखंड
समरनीति न्यूज, बांदाः विश्व में पर्यावरण ही है जो सभी जीव-जंतुओं और वनस्पतियों को इस ब्रह्रामांड में जीवन दे रहा है और सभी स्वस्थ भी रख रहा है। इसलिए हम सभी का यह पहला दायित्व बनता है कि सभी मिलकर पर्यावरण को बचाएं और इस दिशा में बेहतर प्रयासों के साथ कारगर पहल भी करें। ये बातें आज यहां कृषि विश्वविद्यालय बांदा में विश्व ओजोन दिवस के मौके पर पौधरोपण के दौरान कुलपति डा. एसएल गोस्वामी ने कहीं। बांदा कृषि विश्वविद्यालय में ओजोनपरत दिवस पर पौधरोपण  उन्होंने कहा कि वायुमंडल में पृथ्वी से कुछ किमी दूरी पर स्थित ओजोन परत प्रदूषण और मानव द्वारा किए जा रहे पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने वाले कार्यों के चलते कमजोर हो गई है। उन्होंने कहा कि इसको भारी क्षति पहुंची है। ये भी पढ़ेंः आने वाली पीढ़ियों को भी जीवन देंगे आज रोपित पौधे- सुभाषिनी अली  यह ओजोन परत मानव और जीव-जंतुओं को सूर्य की किरणों...