Tuesday, June 22सही समय पर सच्ची खबर...
Shadow

भारत के मुकाबले ज्यादा खुश रहते हैं पाकिस्तान और चीन के लोग, संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट में खुलासा

प्रतिकात्मक फोटो।

समरनीति न्यूज, डेस्कः इंसान की जिंदगी से खुशी के पल मानों कि चोरी होते जा रहे हैं। जी हां, खुशहाली लोगों की जिंदगी से कम होती जा रही है और बदले में तनाव, चिंता, उदासी के साथ-साथ क्रोध और नकारात्मकता बढ़ती जा रही है। अगर आप सोचते हैं कि यह सिर्फ आपके साथ हो रहा है तो ऐसा नहीं है। जी हां, यह समस्या दुनियाभर के कई देशों के लोगों के साथ है। इसका खुलासा संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट से हुआ है। जहां तक भारत का सवाल है तो इस रिपोर्ट में कहा गया है कि खुशहाली के मामले में यहां के लोग चीन ही नहीं, बल्कि पाकिस्तान और बांग्लादेश जैसे देश से भी पीछे हैं।

प्रतिकात्मक फोटो।

156 देशों की लिस्ट में भारत 140वें स्थान पर 

दरअसल, 20 मार्च को संयुक्त राष्ट्र द्वारा विश्व हैप्पीनेस डे के रूप में मनाया जाता है। इस मौके पर एक रिपोर्ट जारी की जाती है। अबकी बार संयुक्त राष्ट्र की 7वीं वार्षिक विश्व खुशहाली रिपोर्ट जारी हुई है। यह रिपोर्ट दुनिया के 156 देशों को आधार बनाकर तैयारी की जाती है। इन देशों के लोगों को देखा जाता है कि उसके नागरिक खुद को कितना खुश महसूस करते हैं। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि इस साल भारत 140 वें स्थान पर रहा है जो पिछले साल के मुकाबले 7 स्थान नीचे है। वहीं दूसरी तरफ फिनलैंड लगातार दूसरे साल भी इस मामले में शीर्ष पर है।

ये भी पढ़ेंः कल कुछ अलग से नजर आएंगे चंदा मामा, गूगल ने भी बनाया डूडल, आप भी देखें..

यानि वहां के लोग सबसे ज्यादा खुशहाल हैं और खुश रहते हैं। वहीं भारत अपने पड़ोसी देश पाकिस्तान और बांग्लादेश से भी पिछड़ गया है। संयुक्त राष्ट्र सतत विकास समाधान नेटवर्क ने बुधवार को यह रिपोर्ट जारी की है। आपको बताते चलें कि संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 2012 में 20 मार्च को विश्व खुशहाली दिवस घोषित किया था। तभी से यह रिपोर्ट तैयार की जाती है।

प्रतिकात्मक फोटो।

बताते हैं कि संयुक्त राष्ट्र की ये सूची 6 बिंदुओं पर तैयारी की जाती है। इसमें स्वस्थ्य, आय, प्रत्याशा, आजादी, सामाजिक सपोर्ट और विश्वास व उदारता शामिल हैं। रिपोर्ट की माने तो पिछले कुछ सालों में समग्र विश्व खुशहाली में काफी गिरावट आई है। चौंकाने वाले बात यह है कि ज्यादातर भारत में लोगों की खुशहाली में निरंतर गिरावट आ रही है।

बीते एक साल में और नीचे गया भारत 

भारत 2018 में इस मामले में 133वें स्थान पर था, जबकि अबकी बार 140वें स्थान पर पहुंच गया है यानि 7 स्थान और नीचे लुढ़क गया है। रिपोर्ट में इस बात पर भी गौर किया गया है कि चिंता, उदासी और क्रोध सहित नकारात्मक भावनाएं लोगों में बढ़ी हैं। वहीं अच्छी बात यह है कि दुनिया के देशों में एक फिनलैंड को लगातार दूसरे साल भी सबसे खुशहाल देश माना गया है। इसके बाद दूसरे नंबर पर डेनमार्क, नॉर्वे, आइसलैंड और नीदरलैंड जैसे देश हैं। रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान इस रिपोर्ट में 67 वें स्थान पर हैं जबकि चीन 93 स्थान पर है। वहीं पड़ोसी बांग्लादेश 125वें स्थान पर है। अगर अमेरिका का जिक्र करें तो दुनिया के सबसे अमीर देशों में एक अमेरिका खुशहाली के मामले में 19वें स्थान पर खड़ा है।

ये भी पढ़ेंः प्यार की अनोखी दास्तांः दुनिया की नजर में मां बनकर वो घर में पत्नी का रिश्ता निभाती रही..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *