Thursday, January 27सही समय पर सच्ची खबर...
Shadow

वरुण गांधी का कंगना पर तंज, ‘पागलपन या देशद्रोह’-अब आया यह पलटवार..

Varun Gandhi's taunt on Kangana, 'madness or treason'-now came the counterattack

समरनीति न्यूज, ब्यूरो : यूपी के पीलीभीत से सांसद वरुण गांधी (Varun Gandhi) ने फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangna Ranaut) के देश की आजादी को लेकर दिए विवादित बयान पर बड़ा तंज कसा। वरुण ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि इसे पागलपन कहें या देशद्रोह। दरअसल, कंगना (Kangna) ने एक चैनल के कार्यक्रम में कहा था कि 1947 में मिली आजादी, आजादी नहीं बल्कि भीख थी। इतना ही नहीं कंगना ने इससे आगे बढ़ते हुए कह डाला था कि असली आजादी 2014 में मिली है। कंगना के इस बयान से सियासी प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। कंगना की जमकर आलोचना हो रही है। ट्वीटर (Twitter) पर कंगना पद्मश्री (Padma Shree) वापस करो और कंगना देश से माफी मांगों हेशटैग जबरदस्त ढंग से ट्रेंड होते रहे।

वरुण ने ट्वीट कर कही यह बात

वहीं बीते कुछ दिनों से अपने बयानों को लेकर चर्चा में छाए बीजेपी के पीलीभीत सांसद वरुण गांधी ने भी कंगना पर तंज कसा है। जो पार्टी की लाइन से एकदमजुदा है।

ये भी पढ़ें : Actress कंगना का दिलजीत पर Vulgar कमेंट्स, कहा- ‘जिनकी तू चाट-चाट के..

वरुण गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा है कि, ‘कभी महात्मा गांधी जी के त्याग और तपस्या का अपमान, कभी उनके हत्यारे का सम्मान और अब शहीद मंगल पांडे से लेकर रानी लक्ष्मीबाई, भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, नेताजी सुभाष चंद्र बोस और लाखों स्वतंत्रता सेनानियों की कुर्बानियों का तिरस्कार..। इस सोच को मैं पागलपन कहूं या फिर देशद्रोह..?’

कंगना रनौत ने किया पलटवार

वरुण का यह ट्वीट पार्टी की लाइन से अलग है। इसलिए पार्टी नेता इससे असहज हो सकते हैं। हालांकि, मामले में ताजी खबर यह है कि कंगना रनौत ने वरुण के ट्वीट पर पलटवार करते हुए अपने इंस्टाग्राम एकाउंट पर स्टेट लगाकर पलटवार किया है।

ये भी पढ़ें : Actress कंगना का महाराष्ट्र के CM पर तगड़ा हमला, कहा- ‘वंशवाद का नमूना’ 

अपने जवाबी हमले में कंगना ने लिखा है कि हालांकि, मैंने साफ कहा था कि 1857 में आजादी की पहली लड़ाई हुई थी जिसे दबा दिया गया था। इसके बाद ब्रिटिश हुकूमत अपना अत्याचार और क्रूरता को बढ़ाती गई। फिर एक सदी के बाद गांधी के भीख के कटोरे में हमें आजादी दे दी गई…जा और रो अब।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *