Saturday, May 30सही समय पर सच्ची खबर...

कानपुर में कालिंदी एक्सप्रेस में यूपी GST टीम का छापा, लाखों का माल पकड़ा-रेलवे से ठनी

समरनीति न्यूज, कानपुरः सेंट्रल रेलवे स्टेशन पर आज उस वक्त हड़कंप मच गया, जब यूपी विशेष अनुसंधान शाखा (यूपी जीएसटी) की टीम ने कालिंद्री एक्सप्रेस पर छापा मारा। वहां अवैध रूप से लाए गए रेडिमेड कपड़ों के 43 नग बरामद किए। इससे संबंधित कोई कागजात नहीं मिले। बरामद हुए इस माल की कीमत 7 से 8 लाख रुपए बताई जा रही है। बताया जाता है कि यूपी जीएसटी के अपर आयुक्त दिनेश मिश्रा के निर्देशों पर ज्वाइंट कमिश्नर सुशील कुमार सिंह के नेतृत्व में टीम सुबह करीब 11.35 बजे सेंट्रल रेलवे स्टेशन पर पहुंची। वहां भिवानी से आने वाली 14724 कालिंदी एक्सप्रेस में इस जीएसटी टीम ने छापा मारा।

UP GST team raids Kalindi Express at Kanpur Central Railway Station, bags worth lakhs

प्लेटफार्म नंबर-7 पर हुई छापेमारी

प्लेटफार्म नंबर-7 पर छापेमारी की इस कार्रवाली से खलबली मच गई। ज्वाइंट कमिश्नर सुशील सिंह ने बताया कि इस दौरान 43 नग बरामद हुए जिनसे संबंधित कागजात नहीं मिले हैं। इनमें रेडिमेट का सामान था। इस दौरान छापेमारी पर रेलवे स्टाफ से झड़प जीएसटीए टीम की कहासुनी हुई। जीएसटी टीम में ज्वाइंट कमिश्नर दिनेश वर्मा, ओपी पांडे तथा कमलेश कुमार के साथ डिप्टी कमिश्नर चंद्रशेखर और प्रमोद कुमार भी मौजूद रहे। जीएसटी टीम द्वारा माल जब्त किए जाने पर रेलवे के सीपीएस (चीफ पार्सल सुपरवाइजर) द्वारा एतराज किया गया। वहीं जीएसटी टीम के अधिकारियों द्वारा अपना पक्ष रखा गया।

UP GST team raids Kalindi Express at Kanpur Central Railway Station, bags worth lakhs

टीम को घंटों रेलवे अधिकारियों से जूझना पड़ा। हालांकि, बाद में जीएसटी के अधिकारियों ने सेंट्रल रेलवे स्टेशन के डायरेक्टर हिमांशू शेखर उपाध्याय से मुलाकात की। दोनों ओर के अधिकारियों की सूझबूझ से मामला निपट गया। रेलवे के डायरेक्टर श्री उपाध्याय ने कहा कि  रेलवे अपने नियमों से बंधा है। जीएसटी टीम के अधिकारी यहां आए थे, उनको चेकिंग की अनुमति दे दी गई है।

ये भी पढ़ेंः इटावा में न्यूज चैनल के एंकर की पत्नी की सिर कूचकर हत्या, वारदात से सनसनी

पार्सल विभाग के पास जिस व्यापारी के पास टैक्स कागज मिलेंगे, उसे संबंधित मालिक को सौंपा जाएगा। कहा कि जिसके पास टैक्स के पेपर नहीं होंगे, उसे जीएसटी टीम जब्त कर लेगी। बताते चलें कि आरोप लगते रहे हैं कि अवैध रूप से ट्रेन से टैक्स चोरी के माल को दलालों के माध्यम से गौरखधंधेबाज लोग आसानी से निकाल ले जाते हैं, लेकिन जब सरकारी टीमें छापा मारती हैं तो रेलवे विभाग के कुछ अधिकारियों द्वारा व्यवधान पैदा किया जाता है।

ये भी पढ़ेंः कौन बना आपके जिले का कांग्रेस जिलाध्यक्ष!पढ़िए सूची-कांग्रेस का मिशन यूपीः प्रदेश के नए जिलाध्यक्षों की घोषणा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *