Saturday, July 2सही समय पर सच्ची खबर...
Shadow

कानपुर में बड़ी घटना, पुलिस पर फायरिंग में दरोगा समेत 3 पुलिसकर्मी घायल, विवाद सुलटाने गया था फोर्स

Firing on police in Kanpur, 3 policemen including inspector injured, force reached on information of dispute

समरनीति न्यूज, कानपुर : उत्तर प्रदेश के कानपुर में आज रविवार को बड़ी घटना हो गई। पारिवारिक विवाद के मामले को सुलटाने पहुंची पुलिस पार्टी पर एक व्यक्ति ने ताबड़तोड़ फायरिंग करना शुरू कर दिया। गोली लगने से एक दरोगा समेत तीन पुलिस कर्मी घायल हो गए। उनको अस्पताल ले जाया गया। सूचना से पूरे महकमे में हड़कंप मच गया। जल्द ही फोर्स मौके पर पहुंचे। करीब 2 घंटे तक आपरेशन चलाकर पुलिस ने आरोपी को दबोचा। उसकी बंदूक को कब्जे में लिया। आरोपी को जेल भेजने कार्रवाई की जा रही है। उससे लगातार पूछताछ हो रही है। वहीं घायल पुलिस कर्मियों का इलाज चल रहा है।

चकेरी के श्यामनगर इलाके में घटना

यह मामला चकेरी के श्यामनगर का है। डीसीपी प्रमोद कुमार ने बताया कि आज रविवार दोपहर बाद पारिवारिक विवाद की सूचना पर चकेरी के श्यामनगर सी ब्लाक में रहने वाले रामकुमार दुबे के घर पुलिस गई थी। पुलिस पहुंचकर कुछ कर पाती इससे पहले ही रामकुमार दुबे ने घर के अंदर से पुलिस पार्टी पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाना शुरू कर दिया। उसन अपने परिवार को एक कमरे में बंद कर दिया था।

इन पुलिसकर्मियों को लगी है गोली

गोली लगने से दरोगा हिमांशु त्यागी, सिपाही रामरतन और गार्ड अस्वनी कुमार घायल हो गए। तीनों को उपचार के लिए मेडिकल कालेज ले जाया गया। पुलिस पार्टी पर दो नाली बंदूक से 30 से 40 राउंड फायरिंग की बात सामने आ रही है। हालांकि, सूचना पर पहुंचे भारी पुलिस बल ने दो घंटे आपरेशन चलाकर आरोपी को हिरासत में लेकर उसकी बंदूक को कब्जे में ले लिया है। बताते हैं कि आरोपी मानसिक रूप से बीमार है और उसका इलाज चल रहा है। पुलिस ने काफी सूझबूझ के साथ काम लिया।

बेटे ने बताया, यह है पूरा मामला

आरोपी के छोटे बेटे राहुल दुबे ने बताया कि उसके पिता रामकुमार दुबे बड़े भाई सिद्धार्थ को अलग रहने के लिए कहते थे। इसी बात को लेकर विवाद होता था। रविवार को पिता ने बड़े भाई और उसकी पत्नी भावना को कमरे में बंद कर दिया। दोपहर करीब 1 बजे खुद को बचाने के लिए किसी तरह पुलिस को सूचना दी। पुलिस के पहुंचते ही राम कुमार दुबे ने गोलियां चलाना शुरू कर दिया। इस दौरान परिवार के लोग बुरी तरह से डरे सहमे रहे। उनकी समझ में कुछ नहीं आ रहा था। दो घंटे तक आपरेशन चलाकर पुलिस ने आरोपी को पकड़ा और उसकी बंदूर कब्जे में ली। इसके बाद बड़े बेटे और बहू को मुक्त कराया।

ये भी पढ़ें : कानपुर का प्रिंस यूपी बोर्ड हाईस्कूल टाॅपर, मुरादाबाद की संस्कृति दूसरे नंबर पर..

Leave a Reply

Your email address will not be published.