Thursday, January 23सही समय पर सच्ची खबर...

बांदा में प्रधान के हिस्ट्रीशीटर पति ने अपने ही भाई का कत्ल किया

Banda History Sheeter-Zilabadar head husband killed brother

समरनीति न्यूज, बांदाः जिले में हुई एक सनसनीखेज वारदात में एक हिस्ट्रीशीटर और जिलाबदर प्रधान पति ने अपने चचेरे भाई की गांव में घुसकर सरेआम हत्या कर दी। इतना ही नहीं हत्या के बाद उसे जलाने का भी प्रयास किया। हालांकि, जानकारी होते ही परिवार के लोग समय रहते मौके पर पहुंच गए और जलते अलाव पर औंधे मुंह पड़े व्यक्ति को उठाकर अस्पताल लेकर पहुंचे। वहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

हत्या की वारदात से इलाके में फैली सनसनी

हत्या की इस वारदात से इलाके में सनसनी फैल गई। पुलिस का कहना है कि हत्यारे की गिरफ्तारी के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। हालांकि, वारदात ने थाना पुलिस की सतर्कता पर भी सवाल खड़े कर दिए हैं। सवाल उठता है कि जिला बदर रहा हिस्ट्रीशीटर अपराधी गांव में आसानी से वारदात करके भाग भी निकला।

Banda History Sheeter-Zilabadar head husband killed brother

जिले के बदौसा थाना क्षेत्र में हुआ हत्याकांड

बताया जाता है कि जिले के बदौसा थाना क्षेत्र के गांव पौहार का मजरा जमुनिहा पुरवा में महिला प्रधान का पति छेदीलाल यादव (48) हिस्ट्रीशीटर है और इस वक्त जिलाबदर भी है। वह खतरनाक अपराधी है और इलाके में लोग उससे खौफ भी खाते हैं। क्षेत्र में उसकी गुंडई चलती है। बताया जाता है कि बीते रविवार रात ओमदत्त गांव के पास ही अपने निजी नलकूप पर बैठे अलाव ताप रहे थे। इसी बीच रात करीब 8 बजे वहां बैठे छेदीलाल व उसके चार साथियों ने पीछे से उनपर हमला करते हुए लाठी-डंडों से बुरी तरह से पीटना शुरू किया।

ये भी पढ़ेंः बांदा के बदौसा से खैराडा तक धूल उड़ाती 110 की स्पीड से दौड़ी इलेक्ट्रिक ट्रेन..

आरोप यह भी है कि मरणासन्न हालत में आरोपियों ने उसे जलते अलाव पर डाल दिया, ताकि वह जलकर खत्म हो जाए। लेकिन परिवार के लोग जानकारी मिलने पर दौड़कर वहां जा पहुंचे। परिजन ओमदत्त को उठाकर अस्पताल पहुंचे। वहां चिकित्सकों ने उनको देखते ही मृत घोषित कर दिया।

33 मुकदमों वाला हिस्ट्रीशीटर है प्रधान पति

इससे परिवार में कोहराम मच गया। थानाध्यक्ष नरेश कुमार प्रजापति सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे। घटना की जानकारी पर अपर पुलिस अधीक्षक लाल भरत कुमार ने गांव में पहुंचकर छानबीन की। बताते हैं कि मृतक ओमदत्त के पांच बेटे हैं।

ये भी पढ़ेंः चित्रकूट में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जगद्गुरु रामभद्राचार्य को सम्मानित किया

इनमें जिनमें चार बेटे गांव के बाहर रहकर मजदूरी करके पालन-पोषण करते हैं। वहीं एक पिता के साथ रहता था। थानाध्यक्ष ने बताया कि हत्या का कारण पुरानी रंजिश है। कहा कि प्रधान का पति हत्यारोपी छेदीलाल हिस्ट्रीशीटर है। उसके खिलाफ संगीन वारदातों के 33 मुकदमें दर्ज हैं। एसओ ने बताया है कि वह दिसंबर तक जिला बदर रहा है। उसकी तलाश में छापेमारी की जा रही है।

ये भी पढ़ेंः महोबाः थाने में दरोगा बेटे की आत्महत्या की खबर सुन बीमार मां ने भी दम तोड़ा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *