Wednesday, February 26सही समय पर सच्ची खबर...

बांदा में राजकीय सम्मान के साथ शहीद जवान को अंतिम विदाई, उमड़ा जनसैलाब

Martyr CRPF jawan cremated with state honors in Banda
शहीद पति विकास के शव को बेसुध सी निहारतीं उनकी पत्नी नंदनी।

समरनीति न्यूज, बांदाः जिले के वीर सपूत शहीद विकास को आज बुधवार को पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनके पैतृक गांव में अंतिम विदाई दी गई। इस दौरान जिलेभर के अधिकारी और सीआरपीएफ के डीआईजी और जवान मौजूद रहे। वहीं हजारों की संख्या में गांव और जिले के लोग अपने लाल को नम आखों से अंतिम विदाई देने पहुंचे। हजारों की भीड़ उमड़ पड़ी।

Martyr CRPF jawan cremated with state honors in Banda

मां रो-रोकर बेहाल, पत्नी बेसुध

सभी ने विकास के शौर्य और वीरता के चर्चे किए। इस मौके पर शहीद जवान विकास की मां कैलशिया और पत्नी नंदनी देवी का रो-रोकर बुरा हाल रहा। पत्नी नंदनी बेसुध सी दिखाई दीं और बार-बार अपने पति के शव को ताबूत में निहारती सी देखी गईं। नंदनी ने पति के पार्थिव शरीर को चूमते हुए उनको अंतिम विदाई दी।

Martyr CRPF jawan cremated with state honors in Banda

अधिकारियों ने भी दी श्रद्धांजलि

हजारों की संख्या में ग्रामीणों की भीड़ वहां उमड़ थी। वहीं डीआईजी (बांदा) दीपक कुमार, डीएम हीरा लाल, एसपी एसएस मीणा, सीआरपीएफ के आईजी सुभाष चंद्रा तथा अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे। बताते चलें कि छत्तीसगढ के चेरापल्ली जंगल में नक्सलियों के हमले में बांदा के लामा गांव के रहने वाले जवान विकास कुमार पुत्र स्वर्गीय रतींद्र शरण शहीद हो गए थे।

Martyr CRPF jawan cremated with state honors in Banda

दो दिन से गांव में पसरा सन्नाटा

दो दिन से पूरे गांव में अपने लाल के शहीद होने की खबर मिलने के बाद से मातम पसरा हुआ था। आज परिवार के साथ-साथ पूरे क्षेत्र के हजारों लोगों ने भी नम आंखों से अपने वीर सपूत को अंतिम विदाई दी। अंतिम विदाई के मौके पर जनसैलाब सा उमड़ पड़ा।

Martyr CRPF jawan cremated with state honors in Banda

मंगलवार को विशेष गाड़ी से पहुंचा शव

बता दें कि मंगलवार रात को शहीद विकास का शव सीआरपीएफ के विशेष वाहन से उनके पैतृक गांव बांदा के लामा लाया गया था। इस दौरान सीआरपीएफ के 25 जवानों ने उनको श्रद्धांजलि दी। लगभग सुबह 11 बजे उसका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया गया।

Martyr CRPF jawan cremated with state honors in Banda
शादी की सालगिरह से पहले साथ छूटा

बताया जाता है कि शहीद विकास कुमार की शादी बीते वर्ष 23 फरवरी को हुई थी। उनकी पत्नी नंदनी जिले के ही गांव की रहने वाली हैं। पति के शहीद होने की खबर से उनपर जैसे दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है।

Martyr CRPF jawan cremated with state honors in Banda

बेसुध सी पति के शव को बैठी निहारती नजर आईं। लोगों में चर्चा रही कि शादी के 1 साल भी पूरे नहीं हुए और दोनों का साथ छूट गया। बताते हैं कि मार्च में विकास के भाई की शादी थी। उनको छुट्टी पर आना था।

संबंधित खबर भी पढ़ेंः बांदा का वीर सपूत नक्सली हमले में शहीद, परिवार में कोहराम

संबंधिथ खबर भी पढ़ेंः ब्रैकिंग न्यूजः बांदा पहुंचा शहीद विकास का शव, श्रद्धांजलि को उमड़े लोग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *