Saturday, October 31सही समय पर सच्ची खबर...
Shadow

UP : Big News – तबादले-पोस्टिंग में दोषी मिले दो IPS पर FIR, अब होंगे सस्पैंड

fir against ips himanshu kumar and ajay pal sharma

समरनीति न्यूज, लखनऊ : सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देशों पर भ्रष्टाचार के मामलों में सख्त कार्रवाई जारी हैं। इसी क्रम में तबादलों-पोस्टिंग में लाखों की डील के आरोपों को लेकर यूपी के दो आईपीएस अधिकारियों, डा. अजय पाल शर्मा और हिमांशु कुमार के खिलाफ कार्रवाई तेज हो गई है।

कुल 5 लोगों के खिलाफ दर्ज हुई FIR

सूत्रों का कहना है कि इस मामले में योगी सरकार से हरी झंडी मिलने पर अब विजिलेंस ने दोनों आईपीएस समेत कुल 5 लोगों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहते रिपोर्ट दर्ज की है। सूत्र बताते हैं कि यह रिपोर्ट विजिलेंस के मेरठ सेक्टर के थाने में दर्ज हुई हैं। खास बात यह है कि मेरठ के इस नए विजिलेंस थाने में यह पहला मुकदमा होगा, जो दो आईपीएस अधिकारियों समेत पांच लोगों पर दर्ज हुआ है।

गोपनीय रिपोर्ट पर शुरू हुई थी जांच

सूत्रों की माने तो इन दो मुकदमों में एक आईपीएस डा. अजय पाल के खिलाफ तथा दूसरा आईपीएस हिमांशु कुमार के खिलाफ दर्ज हुआ है। तीन और लोगों को आरोपी बनाया गया है। कहा जा रहा है कि शासन जल्द ही दोनों अधिकारियों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई कर सकता है।

ये भी पढ़ें : यूपी के पांच खनिज अधिकारियों के खिलाफ जांच के आदेश, भ्रष्टाचार के हैं गंभीर आरोप 

बताते चलें कि वर्तमान में आईपीएस डा अजय पाल पीटीएस उन्नाव तथा आईपीएस हिमांशु कुमार पीएसी इटावा में तैनात हैं। बताते हैं कि दोनों आईपीएस अधिकारी बीते दिनों विजिलेंस की जांच में दोषी पाए गए थे। इसके बाद उनके खिलाफ एफआईआर की संस्तुति हुई थी। बता दें कि पूर्व में गौतमबुद्धनगर के तत्कालीन एसएसपी वैभव कृष्ण ने पांच आईपीएस अधिकारियों के खिलाफ भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए थे। हालांकि, इसके बाद एक आपित्तजनक वीडियो क्लिप वायरल होने के बाद खुद आईपीएस वैभव कृष्ण को भी सस्पैंड कर दिया गया था।

ये भी पढ़ें : Update : यूपी : महोबा के SP मनिलाल पाटीदार भी सस्पैंड, 24 घंटे के भीतर दो IPS नपे 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *