Friday, December 6सही समय पर सच्ची खबर...

गाजियाबाद में 2 बच्चों की हत्या कर पति-पत्नी व महिला 8वीं मंजिल से कूदे, सभी की मौत

In Gaziyabad husband-wife girlfriend committed suicide after killing two children

समरनीति न्यूज, गाजियाबादः देश की राजधानी दिल्ली से सटे यूपी के गाजियाबाद शहर से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। आज मंगलवार सुबह गाजियाबाद के इंदिरापुरम के वैभव खंड में स्थित एक सोसाइटी के अपार्टमेंट में पति-पत्नी और उनकी महिला मित्र ने 8वीं मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली। बताते हैं कि आत्महत्या से पहले पति-पत्नी ने अपने सो रहे बेटे और बेटी की गला घोटकर हत्या की। घर में पल रहे एक खरगोश की भी हत्या की। इसके बाद खुद तीनों नीचे कूद गए। इस घटनाक्रम से आसपास के इलाके में सनसनी फैल गई।

दीवार पर लिखा मिला है सुसाइड नोट

फिलहाल पुलिस घटना के पीछे घरेलू कलह और आर्थिक तंगी को वजह मानकर चल रही है। गाजियाबाद के एसएसपी सुधीर कुमार का कहना है कि दीवार पर लिखे सुसाइड नोट को लेकर जांच की जा रही है। इस सुसाइड नोट में मरने वालों ने राकेश वर्मा नाम के व्यक्ति को अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराया है जो मृतक का साढ़ू भी है और बिजनेस पार्टनर भी है। बताया जाता है कि कृष्णा अपरा सोसाइटी के सिक्युरिटी गार्ड एजाज करीम खान ने बताया कि सुबह करीब सवा 5 बजे उनको कुछ गिरने की तेज आवाज सुनाई दी।

ये भी पढ़ेंः इंजीनियर पति ने पत्नी और 3 मासूम बच्चों की कर डाली हत्या, वीडियो भेजकर खुद दी जानकारी..

उन्होंने जाकर देखा तो वहां तीन लोग गिरे पड़े थे। तीन की पहचान सोसाइटी में 8वीं मंजिल के फ्लैट नंबर A-805 में रहने वाले गुलशन(45), उनकी पत्नी परवीन(43), मैनेजर संजना (38) और बेटी कृतिका (18) तथा बेटे रितिक (13) के रूप में हुई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने छानबीन की तो दोनों बच्चों और खरगोश के शव पुलिस को घर के भीतर मिले। फ्लैट की दीवार पर सुसाइड नोट लिखा था जिसमें अपनी मौत का जिम्मेदार राकेश वर्मा नाम के व्यक्ति को ठहराया गया था।

सभी शव साथ में जलाने की जताई इच्छा

साथ ही इच्छा जाहिर की गई थी कि पांचों लाखों को एक साथ जलाया जाए। इतना ही नहीं दिवार पर 500-500 के दो नोट भी चिपके थे जिनपर लिखा था कि अंतिम संस्कार का खर्चा। इसके अलावा बाउंस चेक भी दीवार पर चिपके मिले हैं। बताते हैं कि मरने वाले गुलशन का गांधीनगर दिल्ली में जीन्स कपड़ों का कारोबार था और मृतक महिला संजना उसी फैक्ट्री में मैनेजर थीं। इस वक्त गुलशन का परिवार बड़े पैमाने पर आर्थिक तंगी से गुजर रहा था।

खरगोश का शव भी बच्चों के पास मिला

ऐसे में उनको शालीमार गार्डन की पॉश सोसायटी छोड़कर अक्तूबर में इंदिरापुरम सोसाइटी में रहने के लिए आना पड़ा था। सुसाइड नोट में राकेश वर्मा को उन तीनों की मौत का जिम्मेदार ठहाराया गया है। राकेश नाम के इस शख्स की पहचान गुलशन के सगे साढू के रूप में हुई है। गाजियाबाद के एसपी सिटी मनीष मिश्रा का कहना है कि गुलशन कुमार के परिवार ने तीनों मौतों का जिम्मेदार राकेश वर्मा को ठहराया है। राकेश वर्मा उनका साढू था और बिजनेस संबंध भी थे। एसपी सिटी ने कहा कि आर्थिक तंगी के कारण परिवार ने यह कदम उठाया है। 

ये भी पढ़ेंः खुलासाः न्यूज एंकर ने ही साथी को नोएडा से भेजकर कराई थी पत्नी की हत्या, ऐसे खुला राज..

ये भी पढ़ेंः सेक्स, धोखा और मर्डर की फिल्मी कहानी जैसा माडल एंजेल और मंजीत की साजिश वाला संगीता हत्याकांड  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *